Himachal Election Result 2019: इन 6 कारणों से अनुराग ठाकुर ने लगाया जीत का ‘चौका’

हमीरपुर ससंदीय सीट में 17 विधानसभा सीटें आती हैं. यहां पर भाजपा का दबदबा है. 17 सीटों में से 11 पर भाजपा का कब्जा है. चार सीटें कांग्रेस और एक आजाद प्रत्याशी के पास है. ऐसे में यह सियासी गणित भी अनुराग ठाकुर के फेवर में गया है.

Vinod Kumar Katwal | News18 Himachal Pradesh
Updated: May 23, 2019, 7:19 PM IST
Himachal Election Result 2019: इन 6 कारणों से अनुराग ठाकुर ने लगाया जीत का ‘चौका’
हमीरपुर लोकसभा सीट.
Vinod Kumar Katwal | News18 Himachal Pradesh
Updated: May 23, 2019, 7:19 PM IST
हिमाचल प्रदेश में अब तक लोकसभा चुनाव 2019 के आए रूझान चौंकाने वाले हैं. उम्मीद जताई जा रही थी कि चारों सीटों पर भाजपा जीतेगी, लेकिन इतनी बंपर बढ़त भाजपा को मिलेगी, इसका अनुमान नहीं था. अनराग ठाकुर ने हमीरपुर सीट से जीत का चौका लगाया है. अनुराग ठाकुर की जीत के वैसे तो कई कारण हैं, लेकिन मुख्य रूप से पांच वजहों से अनुराग को जीत मिली है.

हमीरपुर भाजपा की परांपरागत सीट
अनुराग ठाकुर हमीरपुर लोकसभा से चौथी बार मैदान में थे और लगातार चौथी बार उन्हें जीत मिली है. बता दें कि यह सीट भाजपा का पंरापरागत गढ़ है. साल 1989 के बाद से अब हुए चुनाव में कांग्रेस यहां जीत का स्वाद नहीं चख सकी है. अनुराग ठाकुर के पिता और दो बार हिमाचल के सीएम रहे प्रेम कुमार धूमल यहां से सांसद रहे हैं. इस वजह से भी अनुराग को जीत मिली है.

अनुराग हैं चर्चित चेहरा

अनुराग ठाकुर केंद्रीय राजनीति में हिमाचल में चर्चित चेहरा हैं. वह मौजूदा लोकसभा में भाजपा के सचेतक हैं. इसके अलावा, बीसीसीआई और हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोशिएसन के अध्यक्ष रह चुके हैं. वहीं देश ही नहीं, विदेशों में क्रिकेट की वजह से अनुराग ठाकुर को जाना जाता है.

युवाओं में लोकप्रिय
हिमाचल की हमीरपुर सीट वैसे तो भाजपा की परंपरागत सीट है, लेकिन स्थानीय स्तर पर अनुराग ठाकुर ने खेलों को लेकर काफी काम करवाया है. युवाओं में अनुराग एक लोकप्रिय चेहरा हैं. उन्होंने युवाओं को खेलों का सामान बांटा. इसके अलावा हिमाचल में खेल महाकुंभ का आयोजन करवाया. हिमाचल को क्रिकेट में पहचान दिलवाने और धर्मशाला में शानदार अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम भी अनुराग ठाकुर की देन है.
कांग्रेस में खींचतान
हमीरपुर सीट पर कांग्रेस में खींचतान का भी अनुराग ठाकुर को फायदा मिला है.कांग्रेस ने इस सीट पर सबसे अंत में अपने प्रत्याशी के नाम की घोषणा की थी. भाजपा ने जहां अप्रैल मध्य में अनुराग को यहां से प्रत्याशी घोषित कर दिया था, वहीं कांग्रेस यहां से मई के पहले हफ्ते में अपना प्रत्याशी घोषित कर पाई थी. इस सीट के प्रत्याशी को घोषित करने को लेकर कांग्रेस की काफी फजीहत भी हुई थी, क्योंकि यहां से चर्चा में मुकेश अग्निहोत्री और सुखविंद्र सिंह सुक्खू के नाम प्रत्याशी के लिए चर्चा में आए. लेकिन इन्होंने चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया. राम लाल ठाकुर को कांग्रेस ने यहां से प्रत्याशी बनाया, लेकिन वह पहले से ही यहां से हार की हैट्रिक लगा चुके हैं.

अमित शाह का अहम बयान
गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव को लेकर 19 मई को वोटिंग हुई. लेकिन 12 मई को बिलासपुर में एक चुनावी रैली में भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि ‘आप अनुराग ठाकुर को जिताओं, मैं उन्हें एक बड़ा नेता बनाऊंगा’. इस बयान के लिए सियासी मायने इसलिए अहम हो जाते हैं, क्योंकि हिमाचल में विधानसभा चुनाव 2017 के दौरान मंडी के सराज में शाह ने एक रैली में सीएम जयराम को लेकर भी कुछ ऐसा ही बयान दिया था. नजीता यह हुआ कि वह हिमाचल के सीएम बने. ऐसे में लोगों को उम्मीद थी कि अनुराग ठाकुर अगर जीतते हैं तो केंद्र में उनके मंत्री बनने की प्रबल संभावना है.

17 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस
हमीरपुर ससंदीय सीट में 17 विधानसभा सीटें आती हैं. यहां पर भाजपा का दबदबा है. 17 सीटों में से 11 पर भाजपा का कब्जा है. चार सीटें कांग्रेस और एक आजाद प्रत्याशी के पास है. ऐसे में यह सियासी गणित भी अनुराग ठाकुर के फेवर में गया है.

ये भी पढ़ें: Himachal Result 2019 Live: चारों सीटें जीतीं BJP

लोस चुनाव: इन 6 वजहों से अनुराग ठाकुर ने लगाया जीत का ‘चौका’

Election Result 2019 LIVE: हिमाचल से पहला नतीजा, अनुराग जीते

Election LIVE: हिमाचल की चारों सीटों पर भारी मतों से BJP आगे

लोकसभा चुनाव-2019: हिमाचल से ये हैं सबसे अमीर प्रत्याशी

Election Result LIVE: CM बोले-Exit Poll अनुरूप होगा रिजल्ट
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...