हिमाचल के प्राचीन हनुमान मंदिर में चोरों ने बोला धावा, 150 साल पुरानी मुर्ति और जेवर लेकर हुए फरार
Shimla News in Hindi

हिमाचल के प्राचीन हनुमान मंदिर में चोरों ने बोला धावा, 150 साल पुरानी मुर्ति और जेवर लेकर हुए फरार
पुलिस चोरों को पकड़ने की कोशिश कर रही है.

मंदिर से  बेशकीमती (Expensive) 4 मूर्तियों के साथ 5 तोले के चांदी के मुकुट भी चोर ले उड़े. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल की राजधानी शिमला (Shimla) के प्रसिद्ध कुफरी-चायल मार्ग के बीच मुंडाघाट स्थान पर स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर (Hanuman Temple) में लाखों की चोरी का मामला सामने आया है. पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक चोर 150 साल पुरानी मूर्तियों समेत आभूषण ले उड़े. अष्टधातु से बनी बेशकीमती 4 मूर्तियों के अलावा 5 तोले के चांदी के मुकुट समेत अन्य सामान चोरी हुआ है. एसपी मोहित चावला ने इसकी पुष्टि की.

पुलिस ने आस-पास के इलाके समेत जिला और राज्य की सीमा पर नाके लगा दिए है. सुबह करीब 9 बजे मंदिर कमेटी की ओर से ढली थाने में घटना की सूचना दी गई. सूचना मिलते ही थाने के एसएचओ राज कुमार, एएसपी प्रवीर ठाकुर और एसपी मोहित चावला खुद मौके पर पहुंचे. साथ ही फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने भी घटना स्थल पर पहुंच कर साक्ष्य जुटाए.

नकाब पहन कर आए थे चोर, हेलमेट छूटा



पुलिस ने मंदिर कमेटी के लोगों से जब पूछताछ की तो पता चला कि मंदिर में शुक्रवार तड़के करीब 3 बजे दो नकाबपोश देखे गए. मौके पर जिसने उन्हें देखा,उसने शोर मचाया लेकिन आसपास कोई नहीं होने की वजह से शायद किसी को सुनाई नहीं दिया. सुबह उसने मंदिर कमेटी के लोगों के सूचना दी. उसके बाद ढली थाने को सूचित किया. मौके पर एक हेलमेट बरामद हुआ है जिससे माना जा रहा है कि चोर बाइक पर आए होंगे.


सीसीटीवी की तारें काटी 

एएसपी प्रवीर ठाकुर ने बताया कि चोरी को अंजाम देने से पहले मंदिर में लगे सीसीटीवी की तारें काट दी गई थी. पुलिस कुफरी-चायल मार्ग पर स्थित घरों और होटलों में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है. पुलिस ने खोजी कुत्ते की मदद से तलाशी अभियान शुरू किया.चोरों को पकड़ने के लिए मंदिर के साथ लगते जंगल को भी छाना जा रहा है.

ये भी पढ़ें: Bihar Election: पप्पू यादव ने पेश की चुनावी वादों की फेहरिस्त, CM नीतीश कुमार को दिया ये चैलेंज
एसपी ने कहा
एसपी मोहित चावला ने कहा कि चोरों को पकड़ने की कोशिश जारी है. मूर्तियों और अन्य सामान की कीमत लगभग साढ़े 3 से 4 लाख रुपए है. उन्होंने कहा कि शिमला पुलिस मंदिरों की सुरक्षा के लिए वचनवद्ध है. साथ ही सभी मंदिर प्रबंधनों से आह्वान किया गया कि वे मंदिरों की सुरक्षा संबंधी सभी इंतजामों को पुख्ता करें. मंदिर परिसर में सीसीटीवी से लेकर महत्वपूर्ण स्थानों पर ताले लगाए जाएं. इसके अलावा बॉउंड्री वॉल समेत अन्य सुरक्षा व्यवस्था को भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए ताकि चोरी की घटनाओं पर लगाम लगाई जा सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज