शिमला में बर्फबारी के कई दिनों बाद भी सामान्य नहीं हुए हालात, सरकार व निगम पर बरसे पूर्व मेयर
Shimla News in Hindi

शिमला में बर्फबारी के कई दिनों बाद भी सामान्य नहीं हुए हालात, सरकार व निगम पर बरसे पूर्व मेयर
स्नो मैन्यूल के तहत नवंबर में होनी चाहिए तैयारियां

पूर्व मेयर (Ex Mayor) संजय चौहान (Sanjay Chauhan) का कहना है कि शिमला (Shimla) और पूरे प्रदेश के लिए ब्रिटिश शासनकाल (British rule) से एक स्नो मैन्यूल (Snow Manual) बना है. उस मैन्यूल में हर स्थिति से निपटने से लेकर हर स्थान पर कार्य करने और तैयारियों का विवरण है, लेकिन इस बार सरकार और प्रशासन ने उसे दरकिनार कर दिया.

  • Share this:
शिमला. बर्फबारी (Snowfall) के 4 दिनों बाद भी राजधानी में हालात सामान्य नहीं होने के मामले पर नगर निगम शिमला (Municipal Corporation Shimla) के पूर्व मेयर संजय चौहान (Ex Mayor Sanjay Chauhan) ने हल्ला बोला है. अव्यवस्था के लिए संजय चौहान ने प्रदेश सरकार, नगर-निगम और जिला प्रशासन को जिम्मेवार ठहराया है. संजय चौहान का कहना है कि शिमला और पूरे प्रदेश के लिए ब्रिटिश शासनकाल से एक स्नो मैन्यूल (Snow Manual) बना है. उस मैन्यूल में हर स्थिति से निपटने से लेकर हर स्थान पर कार्य करने और तैयारियों का विवरण है, लेकिन इस बार सरकार और प्रशासन ने उसे दरकिनार कर दिया.

पूर्व मेयर ने कहा कि ये तैयारियां अक्तूबर माह से शुरू होती हैं. नवंबर माह में बर्फ हटाने वाली मशीनों से लेकर मैन पावर तक हर तैयारी पूरी कर ली जाती है. यहां तक कि रेत और मिट्टी के ढेर जगह-जगह लगाने जरूरी हैं.

पूर्व मेयर संजय चौहान ने कहा कि बर्फबारी खुशियां लेकर आती है, लेकिन प्रशासन की लचर कार्यप्रणाली के चलते यह आपदा साबित हो रही है.




बर्फबारी खुशियां लेकर आती है, लेकिन ...
संजय चौहान ने कहा कि बर्फबारी खुशियां लेकर आती है, लेकिन प्रशासन की लचर कार्यप्रणाली के चलते यह आपदा साबित हो रही है. उन्होंने कहा कि शहर की 70 फीसदी आबादी आने-जाने के लिए छोटी सड़कों और रास्तों का इस्तेमाल करती है, लेकिन उन रास्तों में अब भी बर्फ जमी हुई है. मैन पावर की कमी को सरकारों ने कभी पूरा नहीं किया. समय रहते खाली पद नहीं भरे गए जिसके चलते सड़क, बिजली, पानी की चरमराई व्यवस्था को पटरी पर लाने में दिक्कत आ रही है और आम जनता को परेशानियों का सामना कर पड़ रहा है.

संजय चौहान ने सवाल किया कि ठंड और बर्फबारी से हुई मौतों और जख्मी हुए लोगों की जिम्मेवारी कौन लेगा.

ये भी पढ़ें - शिवरात्रि: निर्माणाधीन संस्कृति सदन में होगी देवी-देवताओं के ठहरने की व्यवस्था

ये भी पढ़ें - शिमला में बर्फबारी पर सियासत, युवा कांग्रेस ने शुरू किया 'बर्फ हटाओ अभियान'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading