Home /News /himachal-pradesh /

हादसे के घायलों को बचाने वाली 13 वर्षीय हिमाचली बेटी अलाइका को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार

हादसे के घायलों को बचाने वाली 13 वर्षीय हिमाचली बेटी अलाइका को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार

13 साल की अलाइका बहादुर बच्चों के साथ. (लाल घेरे में)

13 साल की अलाइका बहादुर बच्चों के साथ. (लाल घेरे में)

National Bravery Award: बता दें कि मलाइका अपने माता पिता की इकलौती संतान हैं. हादसे में उन्होंने अपने दादा, मां और ड्राइवर की जान बचाई थी. अलाइका के इस हौसले की हर जगह तारीफ हुई थी.

    शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की 13 साल की बेटी अलाइका को राष्ट्रीय बाल वीरता पुरस्कार (National Bravery Award) से नवाजा गया है. नई दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में अलाइका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रीय सम्मान से अलंकृत किया. 13 साल की अलाइका हिमाचल प्रदेश (Kangra) के कांगड़ा जिले के पालमपुर (Palampur) से हैं.

    कुल 22 बच्चे चुने गए थे
    गैर सरकारी संस्था भारतीय बाल कल्याण परिषद की ओर से वीरता पुरस्कारों के लिए देशभर से 22 बच्चों को चुना गया था. इनमें पालमपुर के गांव कालू दी हट्टी की अलाइका को भी चुना गया है. अलाइका ने मुश्किल हालात में साहस दिखाते हुए सड़क हादसे के घायलों की जान बचाई थी.

    अलाइका कांगड़ा जिले के पालमपुर की रहने वाली हैं.
    अलाइका कांगड़ा जिले के पालमपुर की रहने वाली हैं.


    बच्ची ने बचाई माता-पिता और दादा की जान
    बहादुर 22 बच्चों में से 10 लड़कियों को भी इस पुरस्कार दिया गया. दरअसल, 1 सितंबर 2018 को अलाइका अपने परिवार के साथ एक बर्थडे पार्टी में लिए जा रही थी. इस दौरान बारिश हो रही थी और उनकी कार खाई में गिर गई. अलाइका के परिजन घटना में बेहोश हो गए तो अलाइका कार से निकली और सड़क तक पहुंची. इसके बाद अलाइका ने राहगीरों को रोका और हादसे के बारे में जानकारी दी.

    अलाइका महज 13 साल की हैं.
    अलाइका महज 13 साल की हैं.


    माता-पिता की इकलौती संतान हैं अलाइका
    बता दें कि मलाइका अपने माता-पिता की इकलौती संतान हैं. हादसे में उन्होंने अपने दादा, मां और ड्राइवर की जान बचाई थी. अलाइका के इस हौंसले की हर जगह तारीफ हुई थी. मलाइका अनुराधा पब्लिक स्कूल मारंडा में पढ़ती हैं. अलाइका की बहादुरी के लिए उसे स्कूल की ओर से भी सम्मानित किया गया था. राष्ट्रीय पुरस्कार के तहत भारतीय बाल कल्याण परिषद की ओर से 20 हजार रुपये और स्‍मृति चिन्ह प्रदान किया जाता है.

    ये भी पढ़ें: PHOTOS: सरकारी मदद नहीं मिली तो बीमार कांस्टेबल को किराये पर लेना पड़ा चॉपर

    हिमाचल कैबिनेट विस्तार: CM जयराम बोले-अब इस दिशा में आगे बढ़ने का वक्त

    मंडी में घर में CID टीम की दबिश, महिला से पकड़ी 424 ग्राम अफीम

    Tags: Bravery Awards winner, Himachal pradesh, Kangra district

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर