• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • Tokyo Paralympics: सिल्वर मेडल विजेता निषाद को CM और राज्यपाल ने किया सम्मानित

Tokyo Paralympics: सिल्वर मेडल विजेता निषाद को CM और राज्यपाल ने किया सम्मानित

निषाद कुमार ने सोमवार को राजधानी शिमला में अपने परिजनों और कोच नसीम अहमद के साथ सीएम जयराम ठाकुर से मुलाकात की.

निषाद कुमार ने सोमवार को राजधानी शिमला में अपने परिजनों और कोच नसीम अहमद के साथ सीएम जयराम ठाकुर से मुलाकात की.

Tokyo Paralympics: निषाद ने मुख्यमंत्री को पैरालिंपिक और खेल से सम्बन्धित विभिन्न तैयारियों के बारे में जानकारी दी. मौके पर शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू, खेल एवं युवा सेवाएं सचिव एसएस गुलेरिया भी मौजूद रहे.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

शिमला. टोक्यो पैरालंपिक में सिल्वर मेडल विजेता निषाद कुमार को हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया है. ऊना जिला के एथलीट निषाद कुमार ने सोमवार को राजधानी शिमला में अपने परिजनों और कोच नसीम अहमद के साथ सीएम जयराम ठाकुर से मुलाकात की. सीएम ने निषाद कुमार को हिमाचल का नाम रौशन करने के लिए बधाई दी और आगामी चैम्पियनशिप के लिए उन्हें शुभकामनाएं दी. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार उन्हें हर सम्भव सहायता और सहयोग प्रदान करेगी. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में खेलों के विकास को बढ़ावा देने के लिए हर सम्भव प्रयास कर रही है और आधारभूत संरचना को सुदृढ़ किया जा रहा है.

निषाद ने मुख्यमंत्री को पैरालंपिक और खेल से सम्बन्धित विभिन्न तैयारियों के बारे में जानकारी दी. मौके पर शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू, खेल एवं युवा सेवाएं सचिव एसएस गुलेरिया भी मौजूद रहे.

राजभवन में राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने भी निषाद को सम्मानित किया. ऊंची कूद में भारत को रजत पदक दिलाने वाले निषाद ने अपने माता-पिता, बहन और कोच के साथ राज्यपाल के साथ मुलाकात की. इस मौके पर राज्यपाल ने कहा कि निषाद ने उत्कृष्ट प्रदर्शन कर अपनी प्रतिभा को तो सिद्ध किया ही है लेकिन देश के गौरव को भी ऊंचा किया है. उन्होंने कहा कि उनके पदक की चमक विशेषकर हिमाचल प्रदेश के खिलाडि़यों के लिए आशा की किरण बनी है. उन्होंने सिद्ध किया है कि कड़ी मेहनत, जज़्बा और कुछ करने का इरादा बुलंद हो तो कोई भी बाधा लक्ष्य प्राप्ति से रोक नहीं सकती. राज्यपाल ने कहा कि निषाद का संघर्षमय जीवन इस बात का प्रत्यक्ष उदाहरण है. राज्यपाल ने आशा व्यक्त की कि भविष्य में भी निषाद नई ऊंचाइयों को हासिल करेंगे और जीत की यह भावना अन्यों के लिए प्रेरणा बनेगी.

राजभवन में राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने भी निषाद को सम्मानित किया.

क्या बोले राज्यपाल
राज्यपाल ने कहा कि आज का युवा बंद कमरे में केवल मोबाइल और इलैक्ट्रानिक गैजेट तक ही सीमित होकर रह गया है. ऐसे में निषाद की उपलब्धि उनमें नई प्रेरणा का संचार करेगी. उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्पोर्टस स्कूल शुरू करने की जरूरत है क्योंकि यहां की भौगोलिक परिस्थितियां आत्मिक बल वाले अच्छे खिलाड़ी पैदा करने की क्षमता रखती है. राज्यपाल ने कहा कि खेल का वातावरण होने से खेल भावना स्वतः जागृत हो जाती है, इसलिए हमें मिलकर सकारात्मक माहौल बनाना चाहिए.

नई ऊर्जा का होगा संचार
निषाद ने कहा कि प्रदेश सरकार ने उन्हें जो सम्मान दिया है उससे उनमें नई ऊर्जा का संचार होगा. निषाद के कोच नसीम अहमद ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है और हमें केवल प्रतिभाओं की खोज करने की जरूत है. निषाद के पिता रशपाल सिंह और माता पुष्पा देवी ने बेटे की उपलब्धि पर खुशी जताई. बहन रमा देवी और भाई पंकज कौंडल ने कहा कि उनका भाई हमेशा से काफी मेहनती रहा है और उन्हें पूरा भरोसा था कि वो पदक जीतकर ही आएगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज