COVID-19: हिमाचल में सैलानियों की बाढ़, शिमला में 60 घंटे में पहुंचीं 8100 गाड़ियां

शिमला में रिज मैदान पर टूरिस्ट.

Tourist in Shimla: मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि होटल व्यवसायियों को राज्य सरकार ने मानक संचालन प्रणाली का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने पर्यटकों से सरकार द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों का पालन करने और फेस मास्क पहनने और परस्पर दूरी के नियम पालन करने का भी आग्रह किया है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू (Corona) में ढील मिलते ही मानो टूरिस्ट की बाढ़ आ गई है. सूबे के पर्यटन स्थलों में बीते तीन दिन में बड़ी संख्या में टूरिस्ट पहुंचे हैं. इससे पर्यटन कारोबारियों की चांदी हो गई है. बीते डेढ़ साल से कोरोना की मार झेल रहे इन कारोबारियों के लिए कोरोना कर्फ्यू में दी गई ढील किसी संजीवनी से कम नहीं है. शिमला (Shimla), मनाली (Manali), कसौली, चंबा जैसे टूरिस्ट स्पॉट सैलानियों से गुलजार हैं. दरअसल, सरकार ने टूरिस्ट के लिए प्रदेश में एंट्री के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट (RTPCR) की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है. मैदानी इलाकों में भारी गर्मी पड़ रही है और इसी वजह से टूरिस्ट पहाड़ों का रुख कर रहे हैं.

सैलानियों की पहली पसंद हिल्स क्वीन शिमला में तो मानों गाड़ियों का सैलाब आ गया है. यहां बीते 60 घंटे में 8100 गाड़ियां पहुंची हैं. आलम यह है कि राजधानी की सड़कें जाम हो गईं. सोलन के परवाणू में तो कालका शिमला एक्सप्रेस हाईवे पर गाड़ियों की लंबा कतारें लग गई थीं. शिमला के डीएमसी कमल वर्मा ने बताया कि सोमवार को 24 घंटे में शिमला में 3100 गाड़ियां दाखिल हुई हैं. नियमों की पालन के लिए पुलिस मुस्तैद है. शिमला में तो एसपी मोहित चावला को खुद मोर्चा संभालना पड़ा और वह रिज मैदान के आसपास मुआयना करते नजर आए.

सोलन में एक्सप्रेस हाईवे पर लगी वाहनों की कतारें.


रोहतांग पास भी दो साल बाद खोला गया
13050 फीट की ऊंचाई पर स्थित विश्व विख्यात पर्यटन स्थल रोहतांग दर्रा पर्यटकों के लिए खुल गया है. सोमवार से रोहतांग दर्रे का दीदार करने के लिए काफी टूरिस्ट पहुंच रहे हैं. हालांकि, प्रशासन ने यह स्पष्ट किया है कि फिलहाल स्थानीय टैक्सियों को ही एसडीएम कार्यालय से परमिट लेकर रोहतांग जाने दिया जाएगा. एनजीटी के नियमों के तहत रोहतांग में सिर्फ 1400 वाहनों को ही एक दिन में जाने की अनुमति रहेगी. बता दें कि कोरोना की वजह से दो साल बाद रोहतांग पास खोला गया है.

क्या बोले सीएम जयराम?
सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि पूरे देश में अन्तरराज्यीय आवाजाही की अनुमति दी गई है. हिमाचल प्रदेश ने यह भी निर्णय लिया है कि राज्य में आने वाले लोगों की सुविधा के लिए कोविड ई-पास सॉफ्टवेयर में पंजीकरण के माध्यम से निगरानी की जाएगी. राज्य में प्रवेश करने के इच्छुक सभी व्यक्तियों को अब ऑनलाइन विवरण दर्ज करना आवश्यक है और उनके आगमन का विवरण सभी संबंधित हितधारकों के साथ साझा किया जा रहा है. मुख्यमंत्री ने कहा कि होटल व्यवसायियों को राज्य सरकार ने मानक संचालन प्रणाली का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने पर्यटकों से सरकार द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों का पालन करने और फेसमास्क पहनने व परस्पर दूरी के नियम के अनुपालन का भी आग्रह किया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.