शिमला पहुंचे सैलानियों को मिली कोरोना वैक्सीन लगवाने की सुविधा, सरकार ने किए विशेष इंतजाम

शिमला में पर्यटक भी लगवा सकेंगे कोरोना टीका, सरकार की इस पहल से मिलेगी राहत.

शिमला में पर्यटक भी लगवा सकेंगे कोरोना टीका, सरकार की इस पहल से मिलेगी राहत.

हिमाचल की राजधानी शिमला में जो लाग घूमने पहुंचे हैं वह वहां कोरोना का टीका भी लगवा सकते हैं. प्रकृति के शानदार नजारों का लुत्फ उठाने के साथ खुद को कोरोना से बचाने यहां की सरकार पर्यटकों को वक्सीन का सुरक्षा कवच पहनाने की पहल कर रही है. शिमला के स्वास्थ्य विभाग ने इसके विशिष इंताम किए.

  • Share this:
शिमला. देश में टीका उत्सव चल रहा है. कोरोना का टीका लगवाने के लिए देशभर में जागरूता अभियान भी चल रहा है. इस बीच घूमने-फिरने का शौक रखने वालों के लिए एक अच्छी खबर है. अगर आपका घूमने का प्रोग्राम बना है और प्रोग्राम के कारण आप कोरोना का टीका (Corona vaccine) नहीं लगवा पा रहे हैं तो हिमाचल ( Himachal) की राजधानी शिमला ( Shimla) जाकर दोनों काम कर सकते हैं. प्रकृति के शानदार नजारों का लुत्फ उठाने के साथ- साथ आप खुद को कोरोना से लड़ाई का सुरक्षा कवच पहन सकते हैं. पहाड़ों की रानी शिमला के स्वास्थ्य विभाग सैलानियों के लिए विशेष सुविधा दे रहा है. कोई अगर शिमला के माल रोड पर घूमने आया है तो शहर के आकर्षण के केंद्र में से एक टॉउन हॉल चला जा सकता है. यहां आपको सिर्फ अपना आधार कार्ड दिखाना है, तुरंत रेजिस्ट्रेशन होगा उसके बाद आपको कोविशील्ड वैक्सीन की पहली डोज लगा दी जाएगी.

शिमला की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुरेखा चोपड़ा ने बताया कि माल रोड के अलावा शहर में 15 स्थानों पर बनाए गए केंद्रों पर टीकाकरण किया जा रहा है. स्थानीय लोगों के अलावा सैलानी भी यहां टीका लगवा सकते हैं. यहां पंजीकरण करने के बाद नेशनल पोर्टल में उनका नाम दर्ज हो जाएगा और दूसरी डोज कहीं पर भी ली जा सकती है. डॉ. सुरेखा ने बताया कि टीका उत्सव 14 अप्रैल तक चलेगा लेकिन विभाग ये अभियान जारी रखेगा. शिमला में कोरोना का टीका ओपन फोर ऑल है.

टॉउन हॉल स्थित केंद्र में सेवाएं दे रहीं डॉ.पारूल शर्मा ने बताया कि सरकार के निर्देशों के तहत फिलहाल 45 से वर्ष से अधिक आयु के लोगों को टीका लगाया जा रहा है. हालांकि टीका उत्सव शुरू होने के बाद से अब तक कोई सैलानी टीका लगवाने नहीं आया है. रिज मैदान पर घूम रहे सैलानियों ने इस पहल का स्वागत किया. हालांकि उनका कहना है कि अब तक उन्हें इस सुविधा की जानकारी नहीं है. विभाग अगर सैलानियों को जागरूक करे, शहर में कहीं होर्डिंग या अन्य माध्यमों से इस पहल के बारे में बताए तो ज्यादा संख्या में टूरिस्ट टीका लगाने आएंगे.

इस केंद्र में काफी संख्या में लोग टीका लगवाने आ रहे हैं, हर रोज 150 से ज्यादा स्थानीय लोग टीका लगवाने आ रहे हैं, ये संख्या बढऩे की उम्मीद है. इस केंद्र में पहुंची एक हॉउस वाइफ ने कहा कि उन्हें जैसे ही इसके बारे में पता चला,वो तुरंत टीका लगवाने पहुंच गई. साथ ही लोगों से अपील की कि सुरक्षित रहने के लिए ज्यादा से ज्यादा संख्या में टीका लगवाने के लिए आगे आएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज