हिमाचल में हिमपात: बर्फबारी और तूफान से तबाही, फसलें चौपट, शिमला सड़क मार्ग बंद

हिमाचल में बारिश से प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी हिमपात हुआ है.

हिमाचल में बारिश से प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी हिमपात हुआ है.

हिमाचल में बारिश से प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी हिमपात हुआ है. इसके साथ ही मध्य और निचले क्षेत्रों में बारिश और ओलावृष्टि ने फसलों को क्षति पहुंचाई है. शुक्रवार को जिला शिमला का सडक़ सम्पर्क मार्ग भी बंद हो गया है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश ( Himachal Pradesh) में बीते तीन दिनों से हो रही भारी बारिश, बर्फबारी ( snowfall ) और तूफान ने जन जीवन अस्तव्यस्त कर दिया है. लगातार हो रही बारिश से प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी हिमपात हुआ है. इसके साथ ही मध्य और निचले क्षेत्रों में बारिश और ओलावृष्टि ने फसलों को क्षति पहुंचाई है. शुक्रवार को जिला शिमला ( Shimla ) का सड़क सम्पर्क मार्ग भी बंद हो गया है, जिसके चलते कुछ घण्टों के लिए यातायात पूरी तरह से बंद हो गया है.

गौरतलब है कि बीते तीन दिनों से हो रही बर्फबारी और बारिश ने जिले में लाखों रुपए का नुकसान किया है. जिसका आंकलन किया जा रहा है. बर्फबारी से रामपुर की ओर जाने वाला नेशनल हाइवे -5 नारकंडा में बंद हो गया है. इसके अलावा रोहड़ू की ओर जाने वाली सडक़ खड़ापत्थर जबकि चौपाल जाने वाली सडक़ खिडक़ी और चंबी जबकि डोडरा क्वार की ओर जाने वाली सडक़ चांशल से बंद हो गई है. जिसके चलते यातायात भी बंद हो गया है, हालांकि सडक़ को बहाल करने का कार्य भी सुचारू हो गया है.

डीसी शिमला के मुताबिक जिला में भारी बर्फबारी, बारिश और ओलावृष्टि हुई है, जिससे काफी नुकसान हुआ है. जगह- जगह से सेब के पौधे गिर गए हैं, जबकि अन्य फसलों मटर, टमाटर, गेंहू,और जौ की फसल भी तबाह हुई है. सबसे ज्यादा नुकसान ठियोग और नारकंडा क्षेत्र में हुआ है. इसको लेकर एसडीएम ठियोग को आंकलन करने के निर्देश दिए हैं. नुकसान का जल्द ही आंकलन करने को कहा गया है. उन्होंने कहा कि जहां बर्फबारी हुई है उन सडक़ों को बहाल करने का कार्य जोरों पर चला हुआ है. जल्द ही सडक़ें यातायात के लिए बहाल की जाएगी. उन्होंने कहा कि भारी बारिश और बर्फबारी से किसी जान माल का नुकसान नहीं हुआ है, बल्कि शिमला शहर में एक भवन भी ढह गया है. जिसकी रिपोर्ट मांगी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज