Home /News /himachal-pradesh /

परिवहन मंत्री ने बताया, इन वजहों से हुआ था कुल्लू का बंजार बस हादसा

परिवहन मंत्री ने बताया, इन वजहों से हुआ था कुल्लू का बंजार बस हादसा

कुल्लू में 20 जून को यह हादसा हुआ था.

कुल्लू में 20 जून को यह हादसा हुआ था.

हिमाचल प्रदेश काफी सालों से हादसों का प्रदेश बनता जा रहा है. हर साल कोई न कोई बड़ा हादसा होता है. ऐसे में जांच रिपोर्ट भी आती है, लेकिन फिर वही ढाक के तीन पात. बहरहाल, अब देखने वाली बात यह होगी कि ताजा हादसों की रिपोर्ट के बाद सरकार सबक लेती भी है या नहीं.

अधिक पढ़ें ...
    हिमाचल के कुल्लू के बंजार बस हादसे की सरकार को रिपोर्ट मिल गई है, जबकि शिमला के झंझीड़ी हादसे की रिपोर्ट आना बाकी है. हादसे की प्रमुख वजह मानवीय भूल रही है.

    रिपोर्ट आने के बाद अब सरकार ने कड़े एक्शन का फैसला लिया है. कुल्लू जिला के बंजार में हुए बस हादसे ने प्रदेश को झकझोर कर रख दिया था। 20 जून हो हुए इस हादसे में 46 लोग मारे गए हैं. ओवरलोड़ बस में करीब 87 सवारियां थीं. हादसे के बाद सरकार ने मजिस्ट्रियल जांच करवाई तो कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं.

    गोबिंद सिंह ने गिनाए हादसे के कारण
    परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने रिपोर्ट की जानकारी देते हुए बताया कि यह बस एक ही दिन में दो बार खराब हुई है. जिस जगह हादसा हुआ वहां बस का गियर भी नहीं लग पाया. इसके अलावा बस को डेढ़ और ढ़ाई बजे का रूट भी दिया गया था, लेकिन कुछ दिनों से बस नहीं चल रही थी. जिस कारण सवारियों का बोझ एक ही बस पर पड़ गया. हादसा करीब पौने पांच बजे हुआ है. यही वजह रही कि बस ओवरलोड़ हुई. इस स्थान पर हादसा हुआ उस स्थान पर पैरापिट में भी काफी ज्यादा गैप था. हादसे के लिए सरकार ने बस आप्रेटर के साथ-साथ तीन विभागों के अधिकारियों को भी जिम्मेदार ठहराया है जिसमें परिवहन, पुलिस और लोक निर्माण विभाग शामिल हैं. इन विभागों से सरकार ने स्पष्टीकरण भी मांगा है.

    रूट लेते हैं, बसे चलाते नहीं
    बंजार बस हादसे से एक बात साफ हो गई है कि कई बस ऑपरेटर्स बस रूटस तो ले लेते हैं लेकिन उन पर बसें नहीं चलाते हैं. फायदे के रूट पर बसें चलाई जाती हैं, जबकि घाटे के रूट पर बसें नहीं चलाई जाती है. परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि विभाग सभी बस रूटों की चेकिंग करेगा. जिन रूटों पर बसें नहीं चलाई जा रही होंगी उन्हें रद्द किया जाएगा.

    हादसों की जांच के तरीके में भी बदलाव
    सरकार ने बस हादसों की जांच के तरीके में भी बदलाव का फैसला किया है. वर्तमान में मजिस्ट्रीयल जांच की परंपरा है, लेकिन मजिस्ट्रियल जांच के समय विभाग के पास विशेषज्ञों की कमी रहती है, इसलिए इस बार बंजार और झंझीड़ी बस हादसे में सीआईआरटी को भी शामिल किया गया है. परिहवन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने कहा कि इससे जांच और बेहतर होगी.हिमाचल प्रदेश काफी सालों से हादसों का प्रदेश बनता जा रहा है. हर साल कोई न कोई बड़ा हादसा होता है. ऐसे में जांच रिपोर्ट भी आती है, लेकिन फिर वही ढाक के तीन पात. बहरहाल, अब देखने वाली बात यह होगी कि ताजा हादसों की रिपोर्ट के बाद सरकार सबक लेती भी है या नहीं.

    ये भी पढ़ें: सोलन में ट्रक पलटा, दादी की मौत, बाल-बाल बची पोती

     

    Tags: Accident, Car accident, Kullu

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर