Home /News /himachal-pradesh /

शिमला सहित कई इलाकों में जबरदस्त ओलावृष्टि

शिमला सहित कई इलाकों में जबरदस्त ओलावृष्टि

शिमला में सोमवार को जबरदस्त ओलावृष्टि हुई है। शिमला के साथ-साथ ऊपरी शिमला के कई इलाकों में भी ओलावृष्टि हुई। करीब आधे घंटे तक ओलावृष्टि होती रही। ओलावृष्टि इतनी जबरदस्त हुई कि कई पेड़ छिल गए। ओलावृष्टि के बाद राजधानी में सड़कों पर बर्फबारी जैसा नजारा दिखा। इतना ही नहीं ओलावृष्टि के बाद ओले सड़क पर जम गए और लोगों को वाहन चलाने में भी समस्या का सामना करना पड़ा। इससे शहर की सड़कों पर लंबी कतारे लगी रही।

शिमला में सोमवार को जबरदस्त ओलावृष्टि हुई है। शिमला के साथ-साथ ऊपरी शिमला के कई इलाकों में भी ओलावृष्टि हुई। करीब आधे घंटे तक ओलावृष्टि होती रही। ओलावृष्टि इतनी जबरदस्त हुई कि कई पेड़ छिल गए। ओलावृष्टि के बाद राजधानी में सड़कों पर बर्फबारी जैसा नजारा दिखा। इतना ही नहीं ओलावृष्टि के बाद ओले सड़क पर जम गए और लोगों को वाहन चलाने में भी समस्या का सामना करना पड़ा। इससे शहर की सड़कों पर लंबी कतारे लगी रही।

शिमला में सोमवार को जबरदस्त ओलावृष्टि हुई है। शिमला के साथ-साथ ऊपरी शिमला के कई इलाकों में भी ओलावृष्टि हुई। करीब आधे घंटे तक ओलावृष्टि होती रही। ओलावृष्टि इतनी जबरदस्त हुई कि कई पेड़ छिल गए। ओलावृष्टि के बाद राजधानी में सड़कों पर बर्फबारी जैसा नजारा दिखा। इतना ही नहीं ओलावृष्टि के बाद ओले सड़क पर जम गए और लोगों को वाहन चलाने में भी समस्या का सामना करना पड़ा। इससे शहर की सड़कों पर लंबी कतारे लगी रही।

अधिक पढ़ें ...
शिमला में सोमवार को जबरदस्त ओलावृष्टि हुई है। शिमला के साथ-साथ ऊपरी शिमला के कई इलाकों में भी ओलावृष्टि हुई। करीब आधे घंटे तक ओलावृष्टि होती रही। ओलावृष्टि इतनी जबरदस्त हुई कि कई पेड़ छिल गए। ओलावृष्टि के बाद राजधानी में सड़कों पर बर्फबारी जैसा नजारा दिखा। इतना ही नहीं ओलावृष्टि के बाद ओले सड़क पर जम गए और लोगों को वाहन चलाने में भी समस्या का सामना करना पड़ा। इससे शहर की सड़कों पर लंबी कतारे लगी रही।

सेब उत्पादक कई क्षेत्रों में भी ओलावृष्टि होने की सूचना मिली है। ओलावृष्टि के बाद तापमान में गिरावट दर्ज की गई। इससे बागवानों को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। बागवानों के लिए चिंता की बात यह है कि तीन मार्च तक मौसम खराब रहने और ओलावृष्टि और तेज बारिश होने की चेतावनी जारी की गई है। मौसम विभाग की ओर से पहले ही इस संबंध में चेतावनी जारी की गई थी। हालांकि सुबह से ही मौसम खराब रहा, लेकिन दोपहर बाद अचानक बारिश होने लगी।

इसके बाद अचानक हुई ओलावृष्टि ने लोगों को हैरान कर दिया। बीते 24 घंटों में प्रदेश के केलंग में 14 सेंटीमीटर बर्फबारी दर्ज की गई। इसके अलावा मनाली में सबसे ज्यादा 52 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड हुई। प्रदेश के मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों से लेकर निचले क्षेत्रों में बारिश हुई है। गोहर, कुकुमसेरी, रिकांगपिओ सहित, जोगिंद्र नगर आदि स्थानों में 18 से लेकर 41 सेंटीमीटर तक बारिश हुई है।

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

 

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर