अपना शहर चुनें

States

शिमला में ट्रिपल तलाक: एडवोकेट पति ने 20 हजार रुपये मेहर देकर घर से निकाला, FIR

शिमला में ट्रिपल तलाक का मामला.
शिमला में ट्रिपल तलाक का मामला.

Triple Talak Case in Shimla: एडिश्नल एसपी प्रवीर ठाकुर ने कहा कि 13 जनवरी को पीड़िता लक्कड़ बाजार चौकी आई थी. पीड़िता की शिकायत पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस ने एफआईआर दर्ज की.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला (Shimla) में ट्रिपल तलाक (Triple Talak) का मामला सामने आया है. 49 वर्षीय पीड़िता ने आरोप लगाया है कि उसके पति ने उसे तलाक के पेपर पकड़ाए, तीन तलाक बोला और मेहर के रुप में 20 हजार रुपये देकर घर से निकाल दिया.

पीड़िता ने मारपीट के भी आरोप लगाए हैं. इस बाबत पीड़िता ने लक्कड़ बाजार चौकी में ट्रिपल तलाक (Talak) की शिकायत दी है. पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. एडिश्नल एसपी प्रवीर ठाकुर ने एफआईआर की पुष्टि की है.

महिला ने लगाए ये आरोप
तीन तलाक पर अगस्त 2019 से रोक लगी है, देश की संसद ने ट्रिपल तलाक को गैर कानूनी और असंवैधानिक करार दिया गया है लेकिन फिर भी शिमला में ये मामला सामने आया है. पीड़िता ने आरोप लगाया है कि उसका पति उससे मारपीट करता था. 19 दिसंबर को वह अपने मायके दिल्ली गई थी और 12 दिसंबर को वो शिमला वापस आई. जैसे ही वो अपने घर पहुंची तो दरवाजे पर ही उसके पति ने तलाक के कागजात उसे थमा दिए और ट्रिपल तलाक कहा. पीड़िता ने कहा कि उसके बाद उसके पति ने मेहर के रूप में 20 हजार रुपये थमाते हुए कहा कि उसका इतना ही बनता है और घर से निकाल दिया.
पति ने दूसरी शादी की


पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसके पति ने दूसरी शादी भी कर ली है. अब उनके पास रहने के लिए कोई जगह नहीं है. फिलहाल मस्जिद का सहारा है. पीड़िता का आरोप है कि इस सब के पीछे उसकी ननद और पति के डॉक्टर बहनोई का हाथ है. महिला ने बताया कि उसका सीनियर एडवोकेट है. मीडिया के साथ बातचीत में पीड़िता ने न्याय की गुहार लगाई है.

ये बोली पुलिस
एडिश्नल एसपी प्रवीर ठाकुर ने कहा कि 13 जनवरी को पीड़िता लक्कड़ बाजार चौकी आई थी. पीड़िता की शिकायत पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस ने एफआईआर दर्ज की. उन्होंने कहा कि आरोपी फिलहाल इंटरिम बेल पर है, बेल पर अगली सुनवाई के दौरान पुलिस रिप्लाई फाइल करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज