IGMC शिमला के डॉक्टर्स का कमाल: बिना ऑपरेशन मरीज के पेट से निकाली 22 Cm लंबी रॉड

शिमला: युवक के पेट से निकाली गई रॉड़.

शिमला: युवक के पेट से निकाली गई रॉड़.

Mandi News: मंडी जिले से 20 साल का युवक इलाज के लिए आईजीएमसी शिमला लाया गया था. यहां पर बिना ऑपरेशन के युवक के पेट से रॉड निकाली गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 1, 2021, 10:08 AM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (IGMC) में एक मनोरोगी के पेट से डॉक्टरों ने बिना ऑपरेशन एंडोस्कोपी की मदद से 22 सेंटीमीटर लंबी रॉड निकाली है. अस्पताल में गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी विभाग के डॉक्टरों (Doctors) ने मरीज को नई जिंदगी दी है. आईजीएमसी में मंडी के 20 वर्षीय युवक को इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था. युवक मानसिक रोगी है और साइकेट्रिक विभाग से इसका इलाज चल रहा है.

गेस्ट्रोएंट्रोलॉजी विभाग के अध्यक्ष डॉक्टर बृज शर्मा ने बताया कि युवक की मां ने डॉक्टरों को बताया कि उसने मेटल की रॉड निगल ली है. साइकेट्रिक विभाग के डॉक्टरों ने मरीज का एक्सरे करवाया तो खाने की पाइप से लेकर पेट तक एक धातु की रोड दिखाई दी. बाद में डॉक्टरों ने मरीज को गेस्ट्रो एंट्रोलॉजी विभाग में भेजा. यह पर एंडोस्कोपी की मदद से 22 सेंटीमीटर लंबी रॉड को बाहर निकाला गया. विभाग का दावा है कि इस तरह का यह पहला मामला है.

क्या बोला विभाग

विभाग अध्यक्ष डॉ. बृज शर्मा ने बताया कि डॉ. राजेश, डॉ. विशाल, डॉ. आशीष टेक्नीशियन जय प्रकाश और सिस्टर मोनिका की देखरेख में रॉड निकाली गई है. अध्यक्ष डॉ. बृज ने बताया कि पहले खाने की नाली को डिसइनफेक्ट किया और बिना चीर फाड़ के इस रॉड को बाहर निकाला गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज