Black Fungus: हिमाचल के IGMC अस्पताल में ब्लैक फंगस से 2 मरीजों की मौत

हिमाचल में ब्लैक फंगस से दो मरीजों की मौत.

Black Fungus Death in Himachal: IGMC के वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जनक राज ने बताया कि ब्लैक फंगस से दो मरीजों की मौत हुई है. इनके दिमाग तक फंगस पहुंच गया था.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में ब्लैक फंगस (Black Fungus) ने दो मरीजों की जान ले ली. हिमाचल में पहली बार ब्लैक फंगस से किसी की मौत हुई है. हालांकि, सूबे में अब तक ब्लैक फंगस के 8 केस रिपोर्ट हुए हैं. इनमें से दो की मौत हो गई है. तीन केस कांगड़ा टांडा मेडिकल कॉलेज में रिपोर्ट हुए थे. तीन आईजीएमसी शिमला (IGMC Shimla) में सामने आए थे, जिनमें से अब दो की मौत हो गई है. मरीजों की मौत की पुष्टि आईजीएमसी के एमएस डॉक्टर जनक राज ने की है.

जानकारी के अनुसार, आईजीएमसी शिमला में इलाज के दौरान हमीरपुर और सोलन के कसौली क्षेत्र के मरीज की मौत हुई है. प्रशासन का दावा है कि दोनों मरीजों को डाइबिटीज कीटोसिडोसिस था और ब्लैक फ़ंगस ब्रेन तक पहुँच गया था. 39 साल का हमीरपुर का मरीज गुरुवार को ही शिमला रेफर किया गया था. वहीं, सोलन के कसौली का रहने वाला मरीज (49 साल) 22 मई को शिमला के आईजीएमसी अस्पताल में भर्ती हुआ था.

क्या बोले डॉक्टर
IGMC के वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जनक राज ने बताया कि ब्लैक फंगस से दो मरीजों की मौत हुई है. इनके दिमाग तक फंगस पहुंच गया था, जिस वजह से इनकी मौत हुई है. डॉ. जनक राज ने बताया कि ब्लैक फंगस के चलते पांच मरीज अस्पताल में भर्ती थे, जिनका उपचार किया जा रहा था. इनमें से दो मरीजों की मौत हुई है. ब्लैक फंगस से ग्रस्त मरीजों के लिए अलग से 10 बेड का आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है, ताकि फंगस का संक्रमण दूसरे मरीजों को अपनी चपेट में न ले सके. उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस के लिए मेडिसिन और आई विभाग के विशेषज्ञों के नेतृत्व में पांच सदस्यीय टीम का गठन किया है, जो लगातार निगरानी रखे हुए है. इसके अलावा सभी मरीज़ों की टेस्टिंग करने  के बाद ऑपरेशन किया जा रहा है. इनमें सबसे पहले आई मरीज के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है.