Assembly Banner 2021

हिमाचल विधानसभा बजट सत्रः हंगामे में निकला तीसरा दिन, पक्ष-विपक्ष में जमकर तू-तू मैं-मैं

विधानसभा में हुए हंगामे के चलते सदन की कार्यवाही भी बाधित हुई.

विधानसभा में हुए हंगामे के चलते सदन की कार्यवाही भी बाधित हुई.

दोनों पक्षों की नारेबाजी के बीच असंसदीय भाषा का भी प्रयोग हुआ. बाद में कांग्रेस ने सदन से किया वॉकआउट.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के दौरान एक बार फिर जमकर हंगामा हुआ. बजट सत्र के तीसरे दिन सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों के बीच ही जमकर नारेबाजी हुई. बात इतनी बढ़ी की बाद में कांग्रेस ने सदन से वॉकआउट कर दिया. कांग्रेस एमएलए विक्रमादित्य सिंह और डिप्टी स्पीकर हंसराज के बीच हुई बहस इतनी बढ़ गई कि असंसदीय भाषा का भी प्रयोग हो गया. इसी के चलते गहमागहमी और बढ़ गई.

विक्रमादित्य जैसे ही नारेबाजी करते हुए वैल में गए, डिप्‍टी स्पीकर ने असंसदीय भाषा का प्रयोग किया. इसके बाद हंसराज ने कहा कि उन्हें धमकियां दी जा रही हैं. परिवार को भी खतरा है और इस संबंध में मुख्यमंत्री से भी शिकायत की है. इस दौरान संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि वाद-विवाद लोकतंत्र में चलता है लेकिन विपक्ष का ऐसा व्यवहार सही नहीं है. उन्होंने कहा कि विपख को राज्यपाल से माफी मांगनी चाहिए.

हम करते हैं संवैधानिक पदों का सम्मान
वहीं, प्रश्नकाल से पहले कांग्रेस विधायक सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने पॉइंट ऑफ ऑर्डर के तहत अपनी बात रखते हुए कहा कि पहले दिन की घटना दुर्भाग्यपूर्ण थी. कांग्रेस संवैधानिक पदों का सम्मान करती है. कैबिनेट मंत्री सुरेश भारद्वाज ने धक्का दिया था और कांग्रेस विधायकों का निलंबन गैरकानूनी है. सुक्खू ने कहा कि निलंबन रद्द नहीं हुआ तो सदन की कार्यवाही चलने नहीं दी जाएगी. इस दौरान स्पीकर ने डिप्टी स्पीकर हंसराज को बोलने की इजाजत दी तो विपक्ष भड़क गया. दोनों पक्षों के बीच जमकर नारेबाजी हुई और नारेबाजी करते हुए विपक्ष सदन से बाहर निकल गया.
सीएम बोले- विपक्ष ने किया अपमान


इस दौरान सीएम जयराम ठाकुर ने भी सदन में अपनी बात रखी और बोले कि डिप्टी स्पीकर का विपक्ष ने भी अपमान किया है और उनके पोस्टर लगाए और सोशल मीडिया में डाले गए हैं. राज्यपाल की उम्र का भी ख्याल नहीं रखा गया. हमने आंखों से देखा किसने धक्का दिया? राज्यपाल के एडीसी को धक्का किसने दिया, मैंने देखा. राज्यपाल के साथ मैं था, कितनी बार मैंने सहारा दिया. वहीं, डलहौजी से कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने कहा कि सदन में सरकार गलत तथ्य पेश कर रही है. निलंबित विधायकों का धरना आज भी जारी रहा. यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने विधनासभा चौक पर धरना दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज