Himachal News: विक्रमादित्य सिंह ने वामपंथ और दक्षिण पंथ में लगाई सेंध, स्वास्थ्य मंत्री को बताया नारद मुनि

विवाद में पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह (Virbhadra Sing) के बेटे और कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditiya Singh) भी कूद पड़े हैं.

Himachal News: विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि भाजपा ने इन सात सालों में जनता को महंगाई और बेरोजगारी के अलावा कुछ नहीं दिया है.

  • Share this:
शिमला. कोरोना को लेकर विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh) ने केंद्र और प्रदेश सरकार पर जमकर हमला बोला. दूसरी लहर से निपटने में राज्य सरकार (State Government) को विफल करार दिया है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में अस्पतालों की स्थिती किस तरह से है, ये सब जानते हैं. पीएम केयर से आए वेंटिलेटर का क्या हुआ, आधे वापस भेजने पड़े और आधे चलने की स्थिति में नहीं थे. एम्स की बात कही जा रही है, लेकिन एम्स रेफरल अस्पताल बनकर रह गया है. वैक्सीन नहीं है. स्वास्थ्य मंत्री राजीव सैजल पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि वो बिलकुल भी संवेदनशील नहीं है. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री नारद मुनि हैं. यहां गए तो यहां की बात, वहां गए तो वहां की बात करते हैं, जिम्मेदारी के साथ बात नहीं करते और न ही उनके पास आंकड़े होते हैं. साथ ही कहा कि दूसरी लहर को लेकर तमाम विशेषज्ञों की चेतावनी के बावजूद राज्य सरकार कुंभकर्णी नींद सोती रही.

बता दें कि सोमवार को शिमला के जुन्गा क्षेत्र से भाजपा की नेत्री मीना शर्मा ने अपने समर्थकों के साथ हॉली लॉज में विक्रमादित्य सिंह की मौजूदगी में कांग्रेस का दामन थामा. मीना शर्मा भाजपा महिला मोर्चा की पदाधिकारी रही हैं और जिला परिषद सदस्य का चुनाव भी लड़ चुकी हैं. इनके अलावा वामपंथ विचार से जुड़े बसंतपुर वार्ड से जिला परिषद चुन्नी लाल ने भी विक्रमादित्य की मौजूदगी में कांग्रेस का हाथ थाम लिया है.

इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत में विक्रमादित्य सिंह ने केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला. केंद्र में भाजपा के 7 साल के कार्यकाल को विफलताओं से भरा हुआ करार दिया. उन्होंने कहा कि भाजपा उपलब्धियों को ऐतिहासिक बता रही है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के पहले कार्यकाल के दौरान कुछ सालों तक कांग्रेस की सरकार रही, उसके बाद 2017 से भाजपा की सरकार है.

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि हिमाचल को इस दौरान केवल झुनझुने और झूठे भरोसे के अलावा कुछ नहीं मिला है. भाजपा डबल इंजन की सरकार की बात कहती है लेकिन कथनी और करनी में जमीन आसमान का फर्क है, जिसे जनता अच्छे से जानती है. उन्होंने कहा कि जीएसटी कॉम्पनसेशन की बात कही गई थी लेकिन कुछ नहीं मिला, 69 नेशनल हाईवे के नाम पर केवल 250 करोड़ रू. मिले हैं वो भी डीपीआर बनाने के लिए, इन सात सालों में जनता को महंगाई और बेरोजगारी के अलावा कुछ नहीं मिला है.

समाज का हर वर्ग बुरी तरह त्रस्त है. पीएम मोदी हिमाचल को दूसरा घर कहते हैं लेकिन कोई बड़ा पैकेज हिमाचल को नहीं मिला और जय राम सरकार भी कोई पैकेज लाने में सफल नहीं हो पाई है. उन्होंने कहा कि केंद्र ने 20 लाख करोड़ के पैकेज की बात कही थी,तो इस पर जय राम सरकार श्वेत पत्र जारी कर बताए कि किस वर्ग को कितनी राहत मिली है.
Published by:Rahul Mahajan
First published: