अपना शहर चुनें

States

DSP की गाड़ी में टक्कर मारने पर युवक की बेरहमी से पिटाई, ग्रामीणों ने NH जामकर 2 घंटे तक काटा बवाल

एडिश्नल एसपी प्रवीर ठाकुर ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है. युवक के ब्लड और यूरीन का सैंपल लिया गया है. पुलिस (Police) द्वारा मारपीट की गई है या नहीं, इसकी भी तफ्तीश जारी है. मेडिकल रिपोर्ट (Medical Report) में सबकुछ सामने आ जाएगा.
एडिश्नल एसपी प्रवीर ठाकुर ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है. युवक के ब्लड और यूरीन का सैंपल लिया गया है. पुलिस (Police) द्वारा मारपीट की गई है या नहीं, इसकी भी तफ्तीश जारी है. मेडिकल रिपोर्ट (Medical Report) में सबकुछ सामने आ जाएगा.

एडिश्नल एसपी प्रवीर ठाकुर ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है. युवक के ब्लड और यूरीन का सैंपल लिया गया है. पुलिस (Police) द्वारा मारपीट की गई है या नहीं, इसकी भी तफ्तीश जारी है. मेडिकल रिपोर्ट (Medical Report) में सबकुछ सामने आ जाएगा.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल के शिमला जिले के ठियोग में मंगलवार को जबरदस्त हंगामा हुआ. पुलिस (Police) के द्वारा कथित तौर पर एक युवक की पिटाई के बाद परिजनों और ग्रामीणों (Villagers) ने जमकर बवाल काटा. ग्रामीणों का आरोप था कि युवक की बेवजह बेरहमी से पिटाई की गई. पिटाई करने वाले पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई और मामले की जांच की मांग को लेकर स्थानीय लोगों ने जबरदस्त प्रदर्शन किया. इस दौरान कई घंटों तक नेशनल हाईवे (NH) नंबर-5 को जाम रखा गया.

वहीं पुलिस का कहना था कि सोमवार रात को युवक ने ठियोग थाना इलाके में डीएसपी की गाड़ी को टक्कर मार दी थी. वो नशे की हालत में था. घटना के बाद जब उसे थाने ले जाया गया तो उस युवक ने पुलिसकर्मियों के साथ दुर्व्यहार किया, गाली-गलौज की. थाने के बाद जब उसे मेडिकल के लिए अस्पताल ले जाया गया तो वहां पर भी उसने हंगामा किया. पर्ची को फाड़कर अस्पताल के स्टाफ से बदतमीजी की. इस पूरे मामले पर युवक के खिलाफ आईपीसी की धारा 279 और 336 के तहत मामला दर्ज किया गया है. और प्रदर्शन करने वाले लोगों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है.

ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिसकर्मियों की पिटाई की वजह से 26 वर्षीय युवक को घायल अवस्था में अस्पताल ले जाना पड़ा. बेरहमी से पिटाई की वजह से उसकी हालत खराब हो गई और युवक को आईजीएमसी रेफर किया गया. इस पर गुस्साए लोग सबसे पहले ठियोग थाने पहुंचे, कार्रवाई की मांग की. उसके बाद स्थानीय लोगों के साथ माकपा से जुड़े नेता पहुंचे और प्रदर्शन शुरू कर दिया. इस बीच मामला आगे बढ़ गया और लोगों ने हाईवे को जाम कर दिया. लोग हाईवे पर बैठ गए और प्रदर्शन करते रहे. मामला बढ़ता देख ठियोग के विधायक राकेश सिंघा को भी मौके पर आना पड़ा. आला अधिकारियों से बातचीत के बाद प्रदर्शनकारियों ने धरना खत्म किया. इस बीच 2 घंटे से ज्यादा समय तक नेशनल हाईवे पर लंबा जाम लगा रहा.



एडिश्नल एसपी प्रवीर ठाकुर ने कहा कि इस पूरे मामले पर स्थानीय लोगों के आरोपों और आशंका को देखते हुए एसपी ने निर्देश दिए हैं कि इस मामले की जांच आला अधिकारी करेंगे. डीएसपी ठियोग और थाने से संबंधित कोई अधिकारी इसकी जांच नहीं करेगा. एसपी आला अधिकारी को जांच का जिम्मा सौंपेंगे.
उन्होंने कहा कि घटना की जांच की जा रही है. युवक के ब्लड और यूरीन का सैंपल लिया गया है, उससे पुष्टि हो पाएगी कि वो नशे में था या नहीं. इसके अलावा मारपीट की गई है या नहीं इसकी भी जांच की जा रही है. मेडिकल रिपोर्ट में काफी कुछ सामने आएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज