Union Budget 2018-19 Union Budget 2018-19

राष्ट्रपति चुनाव : हिमाचल से कोविंद को मिलेगी 1889 वोटों की लीड!

VINOD KUMAR
Updated: July 17, 2017, 5:56 PM IST
राष्ट्रपति चुनाव : हिमाचल से कोविंद को मिलेगी 1889 वोटों की लीड!
राष्ट्रपति चुनाव से पहले सीएम वीरभद्र सिहं.
VINOD KUMAR
Updated: July 17, 2017, 5:56 PM IST
नए राष्ट्रपति चुनाव के लिए सोमवार को देशभर में वोटिंग हो रही है. इसी कड़ी में हिमाचल विधानसभा में सुबह दस बजे से वोटिंग शुरु हो गई है. अगर सियासी गणित सही रहा तो हिमाचल प्रदेश से एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को लीड मिलेगी. उधर, वोटिंग के मद्देनजर सीएम के सरकारी आवास ओकओवर में कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई है. प्रदेश सीएम और पूर्व सीएम वोट डाल चुके हैं.

ये है पूरा समीकरण
हिमाचल से एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को करीब 1889 ज्यादा वोंटो से लीड मिलेगी. प्रदेश में 68 विधानसभा सीटों पर कांग्रेस के 35 विधायक, 27 भाजपा और पांच निर्दलीय हैं. इसके अलावा, पूर्व मंत्री कर्ण सिंह का निधन हो होने से उनकी सीट खाली है. इसके अलावा, कुल सात सांसदों में से पांच भाजपा और दो कांग्रेस के हैं. हिमाचल में एक विधायक के वोट की वैल्यू 51 वोटों के बराबर है. जबकि एक सांसद की वोट वैल्यू 708 है. अगर क्रॉस वोटिंग होती है तो अांकड़ो में मामूली बदलाव की संभावना है. उधर, भाजपा सांसदों की अधिकता के कारण हिमाचल से कोविंद का पलड़ा भारी रहेगा. राष्ट्रपति चुनाव में हिमाचल प्रदेश की 0.32 प्रतिशत की हिस्सेदारी है.
कुछ ऐसे रहेगा गणित

• कांग्रेस : 35 गुणा 51=1785
• कांग्रेस सांसद : 2 गुणा 708=1416
• कांग्रेस समर्थक : 1 गुणा 51=51
• भाजपा: 27 गुणा 51=1397
• भाजपा सांसद : 5 गुणा 708 = 3540
• भाजपा समर्थक : 4 गुणा 51=204
• कांग्रेस के कुल मत : 1785+1416+ 51(कांग्रेस समर्थक) =3252
• भाजपा के कुल मत: 1397+3540+204(भाजपा समर्थक) = 5141
• 5141(भाजपा)-3252(कांग्रेस)= 1889 की लीड

दोनों उम्मीदवार आए थे हिमाचल
बता दें कि राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए की ओर से उम्मीदवार रामनाथ कोविंद और विपक्षी दलों की ओर से मीरा कुमार मैदान में हैं. दोनों ने प्रचार के दौरान हिमाचल का दौरा किया था. 10 जुलाई को जहां मीरा कुमार शिमला में कांग्रेस विधायक दल की बैठक में पहुंची थी और अपने लिए समर्थन मांगा है. इसके अलावा, कोविंद ने भी 15 जुलाई को सोलन में भाजपा विधायक दल की बैठक में अपनी दावेदारी को मजबूत बनाने के लिए शिरकत की थी.

पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर