शिमला में जल संकट: 33 हजार घरों को नहीं हुई पानी की आपूर्ति

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 19, 2019, 5:46 PM IST
शिमला में जल संकट: 33 हजार घरों को नहीं हुई पानी की आपूर्ति
शिमला मेें जल संकट.

राजधानी को जलापूर्ति करने वाली गिरी व गुम्मा पेयजल योजनाओं में रविवार को हुई भारी बारिश के कारण गाद जम गई है. दोनों ही योजनाओं में भारी मात्रा में सिल्ट जमने के कारण पंपिंग प्रभावित रही है.

  • Share this:
भारी बारिश ने हिमाचल की राजधानी शिमला में प्रशासन के दावों की पोल खोलकर रख दी है. भारी बारिश के कारण जिला में जहां करोड़ों का नुकसान हुआ है, वहीं विभिन्न उपमंडलों में पानी का संकट गहरा गया है.

भारी बारिश में जिला की विभिन्न नदी नालों में बाढ़ आने से शिमला के लिए पानी की आपूर्ति करने वाली बड़ी पेयजल परियोजना भी बाढ़ की चपेट में आ गई है, जिससे शिमला में पानी का संकट गहरा गया है.

इतना पानी हुआ सप्लाई
रविवार को हुई भारी बारिश से शहर की मुख्य बड़ी पेयजल परियोजनाओं गुम्मा और गिरी में बाढ़ आ गई है. वहीं कोटी-बरांडी पेयजल स्त्रोत पर करीब डेढ़ दो मीटर पानी की पाइप लाइन भी पानी में बह गई है, जिससे शिमला जल प्रबंधन निगम को मात्र 10.94 MLD पानी की आपूर्ति हो पाई है. जिसके चलते जल प्रबंधन निगम ने शहर के सभी अस्पतालों में पानी की आपूर्ति करने का निर्णय लिया है. पानी की समस्या को देखते हुए डीसी शिमला ने नगर निगम और शिमला जल प्रबंधन निगम के अधिकारियों के साथ बैठक कर हालात को जल्द काबू करने के निर्देश दिए हैं.

 शिमला को पानी सप्लाई करने वाली परियोजनाओं में गाद आ गई है.
शिमला को पानी सप्लाई करने वाली परियोजनाओं में गाद आ गई है.


शिमला में बारिश की वजह से दिक्कत
एडीएम प्रोटोकॉल नरेश ठाकुर ने बताया कि शिमला में 165 सेंटीमीटर बारिश हुई है, जिससे जिला में कई पेयजल स्त्रोत नष्ट हो गए हैं. बारिश में शिमला शहर के लिए आपूर्ति करने वाले स्त्रोतों में भी पानी भर गया है, जिससे शहर में पानी का संकट गहरा गया है. उन्होंने बताया कि शिमला जल प्रबंधन निगम ने सोमवार शाम तक पानी को सुचारू करने का आश्वासन दिया है. उन्होंने शहरवासियों से पीने के पानी का सदुपयोग करने का आह्वान भी किया है.
Loading...

सिल्ट की मात्रा बढ़ी
राजधानी को जलापूर्ति करने वाली गिरी व गुम्मा पेयजल योजनाओं में रविवार को हुई भारी बारिश के कारण गाद जम गई है. दोनों ही योजनाओं में भारी मात्रा में सिल्ट जमने के कारण पंपिंग प्रभावित रही है. इससे सोमवार को शहर में जल संकट गहरा सकता है. सोमवार को सभी परियोजनायों से शहर को मात्र 10.94 MLD पानी की आपूर्ति हुई है, जो नाकाफी है. शिमला जल प्रबंधन निगम को विभिन्न पेयजल परियोजनाओं से नोटी खड्ड से 2.62 MLD, गुम्मा से 8.92, गिरी से शून्य, चुरट से 0 .64,सियोग से 0.62 चेड़ से 0.49 कोटी बरांडी से 0.27 MLD पानी की आपूर्ति हो पाई है. जो शहर के लिए नाकाफी है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 4:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...