• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • हिमाचल में बारिश का कहरः किन्नौर में गाड़ी पर फिर गिरे पत्थर, चंबा में दुकानों-वाहनों में मलबा घुसा

हिमाचल में बारिश का कहरः किन्नौर में गाड़ी पर फिर गिरे पत्थर, चंबा में दुकानों-वाहनों में मलबा घुसा

हिमाचल में भारी बारिश से गाड़़ियों को नुकसान पहुंचा है.

हिमाचल में भारी बारिश से गाड़़ियों को नुकसान पहुंचा है.

Weather in Himachal: मौसम विज्ञान केंद्र ने खराब मौसम के मद्देनजर लोगों व पर्यटकों को नदी-नालों से दूरी बनाए रखने का परामर्श दिया है. लाहौल-स्पीति एवं किन्नौर को छोड़कर शेष सभी 10 जिलों के कुछ स्थानों में चार व पांच अगस्त को भारी बारिश होने की आशंका है.

  • Share this:

    शिमला. हिमाचल प्रदेश में बारिश (Rain) का दौर जारी है. सोमवार को जहां प्रदेश के कई इलाकों में बारिश हुई है. वहीं, मंगलवार सुबह भी हल्की बारिश हुई है. इससे पहले मंगलवार शाम को के चंबा (Chamba) जिले में भारी बारिश से बस स्टैंड भराड़ा में खड़ी की गई बस, अन्य गाड़ियों सहित लोगों की दुकानों में मलबा घुस गया. देर रात भारी बारिश के बाद अचानक नाले में मलबा आ गया और सड़क पर पार्क बस से मलबा थम गया, जिससे अन्य गाड़ियां दबने से बच गईं. वहीं, नाले में एक बैल भी मलबे में बहकर आया. मंगलवार सुबह प्रशासन की टीम जायजा लेगी. वहीं, शिमला में नाले में बहने से एक शख्स की मौत हुई है.

    हिमाचल में बारिश से बाढ़ और पहाड़ों से चट्टानें-पत्थर गिरने का सिलसिला जारी है. सोमवार को किन्नौर जिले में एनएच-5 पर पूर्वनी झूला के पास एक गाड़ी पहाड़ी से अचानक पत्थर गिरने से क्षतिग्रस्त हो गई है. हादसे में चालक और अन्य व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया है. कुल्लू के मणिकर्ण में सोमवार शाम करीब चार बजे भारी बारिश से रास्कट नाले में बाढ़ आ गई. हालांकि इससे कोई नुकसान नहीं हुआ. लेकिन लोगों में खौफ है. यह नाला भी ब्रह्मगंगा नाले से करीब चार किमी दूर है.

    किन्नौर में गाड़ी पर गिरे पत्थर.

    भारी बारिश से चौतरफा बदहाली
    डीसी किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने बताया कि किन्नौर जिले में भारी बरसात के चलते भूस्खलन, सड़कें बदहाल हैं. पहाड़ों का दरकना जारी है. उन्होंने जिले के लोगों और पर्यटकों से आग्रह किया कि वे नदी-नालों के समीप और ऊंचाई वाले स्थानों पर न जाएं. किसी भी प्रकार की प्राकृतिक आपदा और घटना होने की स्थिति में वह जिला आपदा प्रबंधन परिचालन केंद्र के दूरभाष नंबर 01786,223151, 223155 और टौल फ्री नंबर 1077 पर संपर्क कर सकते हैं.

    क्या कहता है मौसम विभाग
    मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक सुरेंद्र पाल ने खराब मौसम के मददेनजर लोगों व पर्यटकों को नदी-नालों से दूरी बनाए रखने का परामर्श दिया है. उन्होंने कहा कि लाहौल-स्पीति एवं किन्नौर को छोड़कर शेष सभी 10 जिलों के कुछ स्थानों में चार व पांच अगस्त को भारी बारिश होने की आशंका है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज