Weather Update: हिमाचल में ‘ताउते’ तूफान का असर, छितकुल में बर्फबारी, कई इलाकों में बारिश

किन्नौर में राष्ट्रीय उच्च मार्ग-5 कखस्थल के समीप पागल नाला में मलबा आने की वजह से बंद हो गया

किन्नौर में राष्ट्रीय उच्च मार्ग-5 कखस्थल के समीप पागल नाला में मलबा आने की वजह से बंद हो गया

Weather in Himachal: सूबे में 20 मई के लिए येलो अलर्ट है. 21 मई को भी प्रदेश में बारिश की संभावना है. इसके अलावा 22 मई को केवल मध्यपर्वतीय और ऊंचाई वाले इलाकों में मौसम खराब रह सकता है. 24 मई से प्रदेश में मौसम साफ होने का अनुमान है.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में साइक्लोन ‘ताउते’ (Cyclone Tauktea) का ज्यादा असर नहीं दिखाई दिया. . बुधवार को प्रदेश के कई इलाकों में झमाझम बारिश जरूर हुई लेकिन आंधी और तूफान (Cyclone) ना आने से लोगों ने राहत की सांस ली. प्रदेश में 23 मई तक मौसम (Weather) खराब रहने का पूर्वानुमान है. गुरुवार को प्रदेश के मैदानी और मध्यम ऊंचाई वाले क्षेत्रों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है. इस दौरान कांगड़ा (Kangra), कुल्लू, मंडी, शिमला, सोलन, सिरमौर और किन्नौर में तूफान की चेतावनी दी गई है. गुरुवार को प्रदेश के कई इलाकों में बादल हैं और धुंध छाई है. ऐसा लग रहा है कि मानों सर्दियों का मौसम हो.

जिला किन्नौर के निचले इलाकों में बारिश का दौर जारी है. बारिश के चलते राष्ट्रीय उच्च मार्ग-5 कखस्थल के समीप पागल नाला में मलबा आने की वजह से बंद हो गया है. एक वाहन को मलबे की वजह से नुकसान भी हुआ है. सड़क खोलने का काम युद्ध स्तर पर किया जा रहा है. इस नाले में मलबा आना लगातार जारी है. इस हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ है. किन्नौर में ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी भी हुई है. छितकूल में ताजा बर्फ गिरी है.

Youtube Video

बुधवार को फाहे गिरे
इससे पहले, बुधवार को रोहतांग दर्रा के साथ कुंजुम दर्रा, बारालाचा सहित ऊंची पहाड़ियों, मनाली के मकवरे, शिकवरे, हनुमान टिब्बा, सेव स्टिर पीक, पिन पार्वती की पहाड़ियों में दोपहर बाद बर्फ के फाहे गिरे हैं. जिला प्रशासन ने पर्यटकों के साथ आम लोगों को अटल टनल रोहतांग के आसपास व अन्य संवेदनशील इलाकों में न जाने की हिदायत दी है. किन्नौर प्रशासन ने लोगों से मौसम ठीक न होने तक घरों पर ही सुरक्षित रहने की अपील की है. शिमला और आसपास बुधवार को हल्की बूंदाबांदी हुई.

हिमाचल में कई इलाकों में बुधवार से धुंध छाई हुई है.

कहां-कहां कितनी बारिश हुई है



मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार, सूबे में सबसे अधिक बारिश किन्नौर जिले के कल्पा में हुई है. यहां 44.8 एमएम पानी बरसा है. इसके बाद सिरमौर जिले के नाहन में 13 एमएम बारिश हुई है. पालमपुर और सोलन में 6-6, शिमला के नारकंडा में 11 एमएम पानी बरसा है और पावंटा साहिब में 16 बारिश दर्ज हुई है. बारिश के वजह से अधिकतम तापमान सामान्य से 2 से 3 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया है.

हिमाचल में कहां-कहां हुई कितनी बारिश.

क्या रहेगा मौसम का हाल

सूबे में 20 मई के लिए येलो अलर्ट है. 21 मई को भी प्रदेश भर में बारिश होने की संभावना है. इसके अलावा, 22 मई को केवल मध्यपर्वतीय और ऊंचाई वाले इलाकों में मौसम खराब रह सकता है. 24 मई से प्रदेश भर में मौसम साफ होने का अनुमान है.

हिमाचल में मौसम का हाल

क्या रहा तापमान

बुधवार को शिमला का न्यूनतम तापमान 14.5, सुंदरनगर 18.0, भुंतर 16.1, कल्पा 9.4, धर्मशाला 14.2, ऊना 24.0, नाहन 17.1, केलांग 6.9, पालमपुर 18.0, सोलन 17.0, मनाली 12.4, कांगड़ा 19.0, मंडी 17.1, बिलासपुर 21.1, हमीरपुर 21.8, चंबा 14.0, डलहौजी 9.8 और कुफरी में 11.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. वहीं, शिमला का अधिकतम तापमान 17.4, सुंदरनगर 25.3, भुंतर 24.1, कल्पा 14.7, धर्मशाला 23.6, ऊना 30.0, नाहन 26.1, सोलन 22.2, बिलासपुर 27.9, हमीरपुर 26.7, चंबा 27.0, डलहौजी 15.8 और केलांग में 17.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज