Weather in Himachal: हिमाचल में 24 जून को दस्तक देगा मानसून, मई में हुई कम बारिश

बीते वर्ष मानसून के दौरान प्रदेश में करीब 30 फीसदी कम बारिश हुई थी.

बीते वर्ष मानसून के दौरान प्रदेश में करीब 30 फीसदी कम बारिश हुई थी.

Weather in Himachal: मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार, मई में प्रदेश भर में 63.8 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड हुई. इस दौरान प्रदेश में बारिश के नौ स्पैल आए. सोमवार को प्रदेश के कई क्षेत्रों में बादल झमाझम बरसे.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश में इस बार 24 जून को मानसून (Monsoon) दस्तक देगा. मौसम विभाग ने मानसून सीजन के दौरान सामान्य से अधिक बारिश की संभावना जताई है. वहीं, प्रदेश में अप्रैल में सामान्य से 11 फीसदी और मई में 4 फीसदी कम बारिश (Rain) हुई है. ऐसे में मानसून के दौरान बारिश सूबे के लिए राहत लेकर आएगी. बीते वर्ष मानसून के दौरान प्रदेश में करीब 30 फीसदी कम बारिश हुई थी.

मौसम विभाग के अनुसार, इस बार के सीजन में अच्छी बारिश होगी. इसका लाभ प्रदेश के किसानों और बागवानों को होगा. सूबे की जीडीपी में कृषि और बागवानी का 7 फीसदी तक योगदान है, जिसमें सबसे अधिक पांच हजार करोड़ रुपये का बागवानी का योगदान है. ऐसे में अच्छी बारिश होने पर जीडीपी में योगदान और बढ़ जाता है.

कम हुई बारिश

हिमाचल में मई में सामान्य से चार फीसदी कम बादल बरसे. इस वर्ष समर सीजन के दौरान 1 मार्च से 31 मई तक प्रदेश में सामान्य से 11 फीसदी कम बारिश रिकॉर्ड हुई. पांच जिलों मंडी, सोलन, शिमला, सिरमौर और कुल्लू में ही सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गई. मार्च में सामान्य से 62 फीसदी कम और अप्रैल में 62 फीसदी अधिक बादल बरसे हैं. 27 मई को ऊना में सीजन का सबसे गर्म दिन रिकॉर्ड हुआ और ऊना में अधिकतम तापमान 42.7 डिग्री रहा.
नौ स्पेल में हुई बारिश

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के अनुसार, मई में प्रदेश भर में 63.8 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड हुई. इस दौरान प्रदेश में बारिश के नौ स्पैल आए. सोमवार को प्रदेश के कई क्षेत्रों में बादल झमाझम बरसे हैं. बीते वर्ष समर सीजन के दौरान प्रदेश में सामान्य से 21 फीसदी अधिक बारिश रिकार्ड हुई थी. इस वर्ष एक मार्च से 31 मई के दौरान 105.5 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज