• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • हिमाचल में येलो अलर्ट: शिमला सहित कई जिलों में झमाझम बारिश, बारलाचा में बर्फबारी

हिमाचल में येलो अलर्ट: शिमला सहित कई जिलों में झमाझम बारिश, बारलाचा में बर्फबारी

प्रदेश में 1070 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति का नुकसान हुआ है और 424  लोगों की मौत हो चुकी है. 13 लोग अब भी लापता हैं.

प्रदेश में 1070 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति का नुकसान हुआ है और 424 लोगों की मौत हो चुकी है. 13 लोग अब भी लापता हैं.

Weather in Himachal: हिमाचल प्रदेश में इस बार मानसून (Monsoon) का कहर जारी है. अब तक के आंकलन के अनुसार, प्रदेश में 1070 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति का नुकसान हुआ है

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    शिमला. हिमाचल प्रदेश में येलो अलर्ट (Yellow Alert) के बीच भारी बारिश बदस्तूर जारी है. गुरुवार को भी शिमला, मंडी सहित कई इलाकों में भारी बारिश हो रही है. बारिश की वजह से पारा गिरा है और हल्की ठंड महसूस की जा रही है. इससे पहले बुधवार को भी दिनभर रुक-रुककर बारिश (Rain) होती रही. लाहौल स्पीति पुलिस ने बताया कि लेह मनाली हाईवे पर बारलाचा पर बर्फबारी हुई है. हालांकि यह मार्ग बहाल है, लेकिन उन्होंने वाहनों चालकों से सावधानी बरतने की अपील की है.

    मौसम विभाग के अनुसार, हिमाचल (Himachal Pradesh) में मौसम 23 सितंबर के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है. इस दौरान प्रदेश में भारी बारिश का अंदेशा है. इस दौरान शिमला, सिरमौर, सोलन में ज्यादा बारिश होने की संभावना है.

    वहीं, बुधवार को कुल्लू की रघुपुर घाटी में बादल फटने से सड़कों और फसलों को भारी नुकसान हुआ है और तीन गांवों के पैदल रास्ते टूट गए हैं. भारी बारिश से मटर की फसल तबाह हो गई है. बुधवार को प्रदेश भर में 22 सड़कों पर यातायात बंद रहा. 11 सड़कें सिरमौर, 5 मंडी, 3 कुल्लू, 2 शिमला और एक बिलासपुर जिले में बंद रही. इसके अलावा बीस मकान और 10 गोशालाएं भी क्षतिग्रस्त हुई हैं. जिला कुल्लू में बुधवार को तीसरे दिन भी बारिश के साथ पहाड़ों में बर्फ के फाहे गिरे. सूबे में 26 सितंबर तक मौसम खराब रहेगा.

    हिमाचल में 1070 करोड़ रुपये का नुकसान

    हिमाचल प्रदेश में इस बार मानसून का कहर जारी है. अब तक के आंकलन के अनुसार, प्रदेश में 1070 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति का नुकसान हुआ है और 424  लोगों की मौत हो चुकी है. 13 लोग अब भी लापता हैं. प्रदेश में बीते साल के मुकाबले अब तक 14 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है. आपदा प्रबंधन और राजस्व विभाग के प्रधान सचिव ओंकार चंद शर्मा ने इसकी पुष्टि की है. ओंकार शर्मा के मुताबिक, क्लाइमेट चेंज के चलते इस तरह का मौसम बना हुआ है, जिसके चलते बीते साल के मुकाबले इस साल नुकसान ज्यादा हुआ है. अगस्त माह में मॉनसून माइनस 19 फासदी और सितंबर में माइनस 12 फीसदी रहा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज