• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • Rain in Himachal: जुलाई महीने में 15 साल बाद रिकॉर्ड बारिश, सामान्य से 6 फीसदी अधिक वर्षा

Rain in Himachal: जुलाई महीने में 15 साल बाद रिकॉर्ड बारिश, सामान्य से 6 फीसदी अधिक वर्षा

हिमाचल में जुलाई महीन रिकॉर्ड तोड बारिश

हिमाचल में जुलाई महीन रिकॉर्ड तोड बारिश

Himachal Weather Update: दो अगस्त तक राज्य में भारी बारिश की चेतावनी दी है. इसे लेकर मैदानी एवं मध्यपर्वतीय क्षेत्रों में येलो अलर्ट जारी किया गया है.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में मानसून जमकर बरस रहा है. प्रदेश में जुलाई महीने में सामान्य से छह फीसदी अधिक बारिश हुई है. पहली से 31 जुलाई तक प्रदेश में 289 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है, जो सामान्य से छह फीसदी ज्यादा है. इस अवधि में सामान्य बारिश 273 मिलीमीटर मानी गई है. जुलाई महीने की बारिश (Rain in July Month) ने पिछले 15 सालों का रिकार्ड तोड़ा है. इससे पहले जुलाई-2005 में राज्य में सामान्य से सात फीसदी (309) अधिक बारिश हुई थी.

मौसम विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार जुलाई-2021 के दौरान 12 जिलों में से जिला कुल्लू में अत्यधिक वर्षा हुई, जबकि हमीरपुर, कांगड़ा, मंडी, शिमला व ऊना में सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गई. वहीं बिलासपुर, चंबा, किन्नौर, लाहौल-स्पीति, सिरमौर और सोलन में बारिश सामान्य से कम रही. जुलाई महीने में भारी वर्षा के 12 स्पेल हुए हैं. इस दौरान 11, 12, 16, 19, 20, 25, 26, 27, 28, 29, 30 और 31 जुलाई को भारी बारिश दर्ज हुई है. प्रदेश में अधिकतम तापमान नौ जुलाई को ऊना में 42.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है.

मौसम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार जुलाई में कुल्लू में सामान्य से 90 फीसदी अधिक बारिश दर्ज की गई. इसी तरह कांगड़ा में सामान्य से 32 फीसदी, हमीरपुर में 25 फीसदी, मंडी में 16 फीसदी, शिमला में 15 फीसदी और उना में दो फीसदी अधिक बारिश दर्ज की गई है. लाहौल-स्पीति ऐसा जिला है, जहां सामान्य से 50 फीसदी कम बारिश रिकार्ड की गई. चंबा में सामान्य से 32 फीसदी कम बारिश हुई. इसके अलावा सोलन में सामान्य से 14 फीसदी, सिरमौर में सामान्य से 13 फीसदी, किन्नौर में सामान्य से छह फीसदी और बिलासपुर में सामान्य से एक फीसदी कम बारिश रही.

आठ दिन भूस्खलन की घटनाएं हुईं

राज्य में भारी बारिश के कारण आठ दिन भूस्खलन की घटनाएं हुईं. 12 व 13 जुलाई को कांगड़ा के धर्मशाला, शाहपुर और बैजनाथ में भूस्खलन हुए. इसी तरह 19 व 20 जुलाई को चंबा के बलोगी और कांगड़ा के देहरा, 25 जुलाई को किन्नौर के बटसेरी व सांगला, 27 व 28 जुलाई को चंबा, कुल्लू व लाहौल-स्पीति और 30 जुलाई को पांवटा साहिब में एनएच-707 पर भूस्खलन हुआ.

भारी बारिश की चेतावनी

मौसम विभाग ने आगामी दो अगस्त तक राज्य में भारी बारिश की चेतावनी दी है. इसे लेकर मैदानी एवं मध्यपर्वतीय क्षेत्रों में येलो अलर्ट जारी किया गया है. राज्य में छह अगस्त तक मौसम के खराब रहने की संभावना है. मौसम विभाग ने भारी बारिश की आशंका के मददेनजर आम लोगों व सैलानियों को नदी-नालों से दूर रहने की सलाह दी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज