होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /हिमाचल में बारिशः 5 दिन साफ रहेगा मौसम, लेह-मनाली हाईवे खुला, 2 दिन बाद रुखसत होगा मॉनसून

हिमाचल में बारिशः 5 दिन साफ रहेगा मौसम, लेह-मनाली हाईवे खुला, 2 दिन बाद रुखसत होगा मॉनसून

हिमाचल में अगले चार दिन तक मौसम साफ रहेगा.

हिमाचल में अगले चार दिन तक मौसम साफ रहेगा.

Weather Updates in Himachal: हिमाचल में इस साल मानसून ने जान और माल दोनों को काफी नुकसान पहुंचाया है. बीते साल की अपेक् ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

शिमला. हिमाचल प्रदेश में अगले दो दिन में मॉनसून की विदाई हो सकती है. गुरुवार को प्रदेश भर में मौसम साफ बना हुआ है. मौसम विभाग ने अगले 5 दिन के लिए मौसम साफ रहने का अनुमान जताया है. हालांकि, इस दौरान कुछ स्थानों पर हल्की-पुल्की बारिश हो सकती है. इससे पहले, बुधवार को भी प्रदेश भर में मौसम साफ रहा. हालांकि, इस दौरान शिमला के कुफरी, मशोबरा और मनाली में बारिश हुई. वहीं, बर्फबारी के चलते बंद लेह मनाली हाईवे अब पूरी तरह से बहाल हो गया है. घाटी में दो दिन से धूप खिल रही है. केलांग में सबसे कम पारा दर्ज हुआ है. हालांकि, बीते दिन हुई बर्फबारी के चलते प्रदेश के कई इलाकों में ठंड की एंट्री हुई है.

जानकारी के अनुसार, बुधवार को शिमला शहर में 26 एमएएम, कुफरी में 24 एमएम, मशोबरा में 18 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई है. इसके अलावा, मनाली में भी 18 एमएम पानी बरसा. मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि अगले दो दिन में उत्तर भार के कुछ इलाकों से मॉनसून की विदाई हो जाएगी. वहीं, 3 अक्तूबर तक सूबे में मौसम साफ रहेगा.शिमला मे गुरुवार सुबह अधिकतम तापमान 13 डिग्री  दर्ज किया गया था.

लेह मनाली हाईवे खुला

लाहौल पुलिस के अनुसार, मनाली लेह राष्ट्रीय राजमार्ग (NH-003)सभी प्रकार के वाहनों के लिए खुला है. दारचा-शिंकुला सड़क, कोक्सर-लोसर-काजा राजमार्ग (NH-505) यातायात के लिए सुचारू रूप से चल रहा है. इसके अलावा, पांगी-किलाड़ राजमार्ग(SH-26), तिन्दी तक सभी प्रकार के वाहनों के लिए खुला है.

मॉनसून ने पहुंचाया जमकर नुकसान

हिमाचल में इस साल मानसून ने जान और माल दोनों को काफी नुकसान पहुंचाया है. बीते साल की अपेक्षा 2022 में दोगुनी तबाही देखने को मिली है. 2021 में 1118.02 करोड़ की संपत्ति तबाह हुई थी, इस बार 2154 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ. राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (SDMA) के अनुसार, लोक निर्माण विभाग और जल शक्ति विभाग को सबसे ज्यादा 950-950 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है. करीब 23 करोड़ की लोगों की निजी संपत्ति बारिश की भेंट चढ़ी है. 29 जून से 27 सितंबर तक बाढ़, भूस्खलन, बादल फटने और रोड एक्सीडेंट में 406 लोगों की मौत हुई है. मानसून सीजन के दौरान 731 लोग विभिन्न आपदाओं और सड़क दुर्घटनाओं में घायल हुए, जबकि 15 लोग लापता हैं. इनमें 11 लोगों का लंबे समय से कोई सुराग नहीं लग पाया है. 868 पालतू मेवेशियों की भी मौत हुई है.

Tags: Heavy Rainfall, Himachal pradesh, Shimla Monsoon, Shimla Tourism, Snowfall in Himachal, UP weather alert, Weather Alert

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें