Home /News /himachal-pradesh /

VIDEO: एचपीयू में WI-FI की कवायद छह साल बीतने के बाद भी नहीं चढ़ी सिरे

VIDEO: एचपीयू में WI-FI की कवायद छह साल बीतने के बाद भी नहीं चढ़ी सिरे

शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए जरूरी इन्फॉरमेशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल देश के लगभग सभी बड़े शिक्षण संस्थान कर रहे हैं, लेकिन देश का ए ग्रेड विश्वविद्यालय होने के बावजूद एचपीयू में सुविधा नहीं है. परिसर से लेकर हॉस्टलों को वाई-फाई की सुविधा से लैस करने की कवायद साल 2013 से चल रही है. हालांकि करीब छह वर्ष बीते जाने के बाद भी यह अब तक सिरे नहीं चढ़ पाई है. प्रशासन के पास एक करोड़ से ज्यादा की ग्रांट भी है लेकिन लचर कार्यप्रणाली के चलते यह कार्य पूरा नही हो पाया है.

अधिक पढ़ें ...
शिक्षा में गुणात्मक सुधार के लिए जरूरी इन्फॉरमेशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल देश के लगभग सभी बड़े शिक्षण संस्थान कर रहे हैं, लेकिन देश का ए ग्रेड विश्वविद्यालय होने के बावजूद एचपीयू में सुविधा नहीं है. परिसर से लेकर हॉस्टलों को वाई-फाई की सुविधा से लैस करने की कवायद साल 2013 से चल रही है. हालांकि करीब छह वर्ष बीते जाने के बाद भी यह अब तक सिरे नहीं चढ़ पाई है. प्रशासन के पास एक करोड़ से ज्यादा की ग्रांट भी है लेकिन लचर कार्यप्रणाली के चलते यह कार्य पूरा नही हो पाया है. केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय के नेशनल मिशन इन एजुकेशन थ्रू इनफॉरमेशन कम्यूनिकेशन टेक्नोलॉजी प्रोजेक्ट ने साल 2016 में इसके लिए 1 करोड़ की ग्रांट जारी की थी. एचपीयू के नए कुलपति प्रो. सिकंदर कुमार दावा कर रहे हैं कि दो माह के भीतर एचपीयू को वाई-फाई की सुविधा से लैस कर दिया जाएगा.

Tags: Himachal pradesh, Internet users, Shimla

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर