Home /News /himachal-pradesh /

विधवा महिला से मकान मालिक ने की मारपीट, पुलिस ने भी धक्‍के देकर थाने से भगाया

विधवा महिला से मकान मालिक ने की मारपीट, पुलिस ने भी धक्‍के देकर थाने से भगाया

शिमला में एक विधवा महिला के साथ उसके मकान मालिक और परिवार ने मारपीट की और महिला जब न्याय की गुहार लेकर पुलिस के पास पहुंची तो वहां से भी से धमकाकर भगा दिया गया. मामला कसुंपटी इलाके है. यहां एक महिला पिछले सात सालों से एक मकान में रह रही है. मकान मालिक के खिलाफ महिला ने कोर्ट में केस कर रखा है. महिला का आरोप है कि मकान मालिक के परिवार ने उसके साथ बीते दिन मारपीट की और कमरे से बाहर निकाल दिया. महिला जब शिकायत लेकर पुलिस चौकी पहुंची तो उससे न्याय दिलाने की बजाय उल्टा वहां भी उससे दुर्व्‍यवहार किया गया.

शिमला में एक विधवा महिला के साथ उसके मकान मालिक और परिवार ने मारपीट की और महिला जब न्याय की गुहार लेकर पुलिस के पास पहुंची तो वहां से भी से धमकाकर भगा दिया गया. मामला कसुंपटी इलाके है. यहां एक महिला पिछले सात सालों से एक मकान में रह रही है. मकान मालिक के खिलाफ महिला ने कोर्ट में केस कर रखा है. महिला का आरोप है कि मकान मालिक के परिवार ने उसके साथ बीते दिन मारपीट की और कमरे से बाहर निकाल दिया. महिला जब शिकायत लेकर पुलिस चौकी पहुंची तो उससे न्याय दिलाने की बजाय उल्टा वहां भी उससे दुर्व्‍यवहार किया गया.

शिमला में एक विधवा महिला के साथ उसके मकान मालिक और परिवार ने मारपीट की और महिला जब न्याय की गुहार लेकर पुलिस के पास पहुंची तो वहां से भी से धमकाकर भगा दिया गया. मामला कसुंपटी इलाके है. यहां एक महिला पिछले सात सालों से एक मकान में रह रही है. मकान मालिक के खिलाफ महिला ने कोर्ट में केस कर रखा है. महिला का आरोप है कि मकान मालिक के परिवार ने उसके साथ बीते दिन मारपीट की और कमरे से बाहर निकाल दिया. महिला जब शिकायत लेकर पुलिस चौकी पहुंची तो उससे न्याय दिलाने की बजाय उल्टा वहां भी उससे दुर्व्‍यवहार किया गया.

अधिक पढ़ें ...
शिमला में एक विधवा महिला के साथ उसके मकान मालिक और परिवार ने मारपीट की और महिला जब न्याय की गुहार लेकर पुलिस के पास पहुंची तो वहां से भी से धमकाकर भगा दिया गया. मामला कसुंपटी इलाके है. यहां एक महिला पिछले सात सालों से एक मकान में रह रही है. मकान मालिक के खिलाफ महिला ने कोर्ट में केस कर रखा है. महिला का आरोप है कि मकान मालिक के परिवार ने उसके साथ बीते दिन मारपीट की और कमरे से बाहर निकाल दिया. महिला जब शिकायत लेकर पुलिस चौकी पहुंची तो उससे न्याय दिलाने की बजाय उल्टा वहां भी उससे दुर्व्‍यवहार किया गया.

विधवा शकुंतला देवी कसुंपटी में एक मकान में अकेले रहती है. उसके पति का करीब 20 साल पहले निधन हो गया है और एकमात्र सहारा उसका बेटा नालागढ़ इलाके में रहता है. महिला का आरोप है कि वर्ष 2012 में मकान मालिक ने उसके पानी का कनेक्शन काट दिया. उसने पुलिस से पानी का कनेक्शन बहाल करवाने की कई बार गुहार लगाई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई. इसके बाद वह कोर्ट चली गई. हालांकि, बाद में मकान मालिक ने पानी कनेक्‍शन तो बहाल कर दिया, लेकिन इसके बाद वह उसको लगातार तंग करने लगा. आरोपी राज्य सचिवालय में उच्च पद पर तैनात है. महिला का आरोप है वह उसे सरकार में पहुंच होने की लगातार धमकी दे रहा है.

महिला के मुताबिक उसके मकान की ऊपरी मंजिल पर इन दिनों मरम्मत का कार्य चल रहा है, इसके चलते शुक्रावार रात को उसके कमरे में पानी भर गया. जब उसने इस बारे में मकान मालिक को बताया तो उसने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी. इसके बाद सुबह मकान मालिक के परिवार की दो महिलाएं, एक पड़ोसी महिला, उनका एक मिस्त्री कमरे में आए और बाहर निकालकर उससे मारपीट की. डरी-सहमी महिला जब न्याय की गुहार लेकर पुलिस चौकी में पहुंची तो वहां तैनात पुलिस कर्मी उसे धमकाने लगे. एक महिला पुलिस कर्मी ने तो उसे हाथ से पकड़कर चौकी से बाहर धकेल दिया. पुलिस ने केस दर्ज करन की बजाय रोजनामचे में शिकायत डालकर अपनी इतिश्री कर दी.

हालांकि, मकान मालिक और महिला के बीच विवाद जांच का विषय है, लेकिन इस पूरे मामले में पुलिस ने जिस तरह का रवैया अपनाया है उससे पुलिस की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में आ गई है.

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर