हिमाचल: 24 साल बाद गूंजी किलकारी, महिला ने एकसाथ तीन बच्चों को दिया जन्म

शिमला के कमला नेहरू अस्पताल में भर्ती मां.

शिमला के कमला नेहरू अस्पताल में भर्ती मां.

परमानंद ने बताया कि महिला को 28 मार्च को अस्पताल में दाखिल करवाया गया था. लगभग तीन महीने अस्पताल में रहने के बाद मंगलवार को बच्चों को जन्म दिया है. एक बेटे का वजन 1.520 ग्राम व दूसरे का भार 1.380 किलोग्राम है. बेटी की मौत हो गई है.

  • Share this:
24 साल से जिस मां की गोद सुनी थी, वह आखिरकार अब भर गई है. एक साथ तीन बच्चों की किलकारियों से मां का सुना आंचल खिल गए है. मामला हिमाचल के शिमला का है. यहां एक महिला ने एक साथ तीन बच्चों को जन्म दिया है.  मंडी की महिला की कमला नेहरू अस्पताल में डिलीवरी हुई है. ये टेस्ट ट्यूब बेबी हैं.



एक और बच्ची की मौत



जानकारी के अनुसार, मंडी के थुनाग इलाके के गांव धार (छतरी) की जयावंती (42) को डिलीवरी के लिए कमला नेहरू अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. 24 साल से उनकी कोई संतान नहीं थी. कई जगह इलाज करवाया, लेकिन फायदा नहीं हुआ. अब 24 साल बाद उनका सुना आंचल एक साथ तीन बच्चों की किलकारियों से भर गया. मां और नवजात स्वस्थ हैं तथा परिवार में खुशी का माहौल है. हालांकि, एक बच्ची की मौत हो गई है.





कई जगह इलाज करवाया
बताया गया है कि बच्चे की आस में मां हर जगह इलाज करवाकर थक चुकी थी. लुधियाना में भी इलाज करवाया. हालांकि, एक बच्चे की मौत हो गई है और डॉक्टरों ने महिला के प्रसव के बाद बच्चों को वेंटिलेटर पर रखा है. महिला को वार्ड में भर्ती किया है. जच्चा और बच्चे की हालत स्थिर बताई जा रही है. नवजातों में दो बेटे और एक बेटी थी. गुरुवार देर शाम नवजात बेटी की मौत हो गई है.



टेस्ट ट्यूब बेबी है: डॉक्टर



कमला नेहरू अस्पताल के गायनी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ बिशन धीमान ने बताया टेस्ट टयूब बेबी प्रकिया के चलते कई लोगों को लाभ मिल चुका है. टेस्ट ट्यूब प्रकिया के चलते जुड़वा बच्चे होना तो आम बात है, लेकिन तीन बच्चे होना एक रेयर बात होती है. जब महिला का अल्ट्रासाउंड करवाया तो उसमें पता चला था कि पेट में तीन बच्चे हैं.



ये बोले पति

जयावंती के पति पदमानंद का कहना है कि पत्नी ने तीन बच्चों को जन्म दिया है, लेकिन बेटी की मौत हो गई है. वह घर पर पत्नी और मां के साथ रहते हैं. कई जगह इलाज करवाया, लेकिन कुछ नहीं हुआ. बाद में लुधियाना में इलाज करवाया और अब पत्नी ने बच्चों को जन्म दिया है. परमानंद ने बताया कि महिला को 28 मार्च को अस्पताल में दाखिल करवाया गया था. लगभग तीन महीने अस्पताल में रहने के बाद मंगलवार को बच्चों को जन्म दिया है. एक बेटे का वजन 1.520 ग्राम व दूसरे का भार 1.380 किलोग्राम है. बेटी की मौत हो गई है.



ये भी पढ़ें: हंगरी की योआना बनी हिमाचली युवक सन्नी की दुल्हन



नशे पर ढील! चौकी प्रभारी सस्पेंड, 11 पुलिसवालों को नोटिस



कुल्लू में एक और हादसा, युवक की मौत, 3 माह पहले हुई थी शादी



लेह-टू-शिमला: 15 देश, 45 लोग और ऑटो में 720 किमी का सफर



हिमाचल में 200 करोड़ रुपये निवेश करेगा महिंद्रा ग्रुप



हिमाचल का सबसे लंबा पुल किसानों के लिए बना सिरदर्द
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज