हादसे के बाद जागा शिमला MC, येलो लाइन पार्किंग पॉलिसी को मंजूरी, 11530 गाड़ियां होंगी पार्क

मेयर कुसुम सदरेट ने बताया कि निगम ने शहर सरकार के आदेश पर येलो लाइन पार्किंग पॉलिसी को मंजूरी प्रदान कर प्रस्ताव सरकार को भेज दिया है.अब जल्द ही शहर के सभी वार्डों में 11 हजार से ज्यादा वाहनों को पार्किंग करने की क्षमता मिलेगी.

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 3, 2019, 12:19 PM IST
हादसे के बाद जागा शिमला MC, येलो लाइन पार्किंग पॉलिसी को मंजूरी, 11530 गाड़ियां होंगी पार्क
शिमला में येलो लाइन पार्किंग को मंजूरी. (DEMO PIC)
Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 3, 2019, 12:19 PM IST
हिमाचल प्रदेश के शिमला में खलीणी के झंझीडी में हुई एचआरटीसी स्कूल बस दुर्घटना के बाद सरकार, प्रशासन व नगर निगम शिमला की नींद टूटी है. सरकार द्वारा पार्किंग की समस्या को लेकर बैठक के बाद मंगलवार को नगर निगम शिमला ने विशेष बैठक बुलाई गई, जिसमें कई अहम निर्णय लिए गए. नगर निगम की मेयर की अध्यक्षता में संम्पन हुई इस बैठक में शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह भी मौजूद रहे. बैठक शुरू होने से पहले सदन ने झंझीडी में हुए बस हादसे के मृतकों के लिए दो मिनट का मौन भी रखा.

इन मुद्दों पर हुई चर्चा
बैठक में शहर में बढ़ती अवैध पार्किंग की समस्या से किस तरह से निपटा जाए, इस पर चर्चा के बाद निर्णय लिया गया कि सड़क के किनारे जहां पर गुंजाइश है. वहां येलो लाइन लगाई जाए. वार्डो और शहर में पार्किंग के लिए जगह चयनित कर नई पार्किंग का निर्माण किया जाएगा. पब्लिक के ट्रांसपोर्ट सिस्टम को मजबूत किया जाएगा. विशेष बैठक में शहर के सभी 34 वार्डों में जगह चिन्हित की गई हैं, जिनमें करीब 11530 वाहन पार्क करने की क्षमता रहेगा.

सड़क किनारे पार्किंग होगी बैन, तीन गुना चालान

इसके अलावा, यह भी निर्णय लिया गया कि सड़क के दोनों किनारे वाहन खड़े करने पर पूर्णत प्रतिबन्ध लगाया जाएगा. साथ ही येलो लाइन से बाहर गाड़ी पार्क करने पर तीन गुना चालान किया जाएगा. इसके लिए पुलिस के साथ-साथ निगम अधिकारी भी चालान कर सकेंगे. इसके अलावा निगम की विशेष बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि रोड साइड येलो लाइन में वाहन पार्क करने के लिए पहले आओ-पहले पाओ के आधार कर वाहन पार्क करने की सुविधा मिलेगी.

ये रहेगा पार्किंग शुल्क
नगर निगम 600 रुपए मासिक शुल्क के साथ जीएसटी भी वसूलेगा. नई पार्किंग पॉलिसी के तहत स्कूल परिधि से 50 मीटर के दायरे में किसी भी वाहन को पार्क नहीं किया जा सकेगा.
Loading...

ये बोले विक्रमादित्य
निगम की विशेष बैठक में शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि प्रदेश में हो रहे लगातार सड़क हादसों को लेकर गम्भीर हैं, इसके लिए सरकार के साथ साथ स्थानीय जनता को भी सहयोग करने चाहिए. उन्होंने कहा कि शिमला शहर में पार्किंग समस्या को दूर करने के लिए जिला प्रशासन, नगर निगम और पुलिस की सहायता से नए पार्किंग स्थल बनाए जाने चाहिए. साथ ही लोगों की सविधा के लिए अधिक से अधिक परिवहन की सुविधा हो. उन्होंने कहा कि इस मामले को विधानसभा सत्र में भी चर्चा की जाएगी.

घर में पार्किंग दर्शाने वालों की होगी जांच
पार्किंग पालिसी को लेकर निगम की विशेष बैठक में जहाँ नई जगह तलाश करने की मंजूरी प्रदान की गई. वहीं, जिन भवन मालिकों ने भवन के नक्शे में पार्किंग दर्शाई है, उन सभी भवनों की जांच की जाएगी. इसके लिए निगम की एपी शाखा के अधिकारी 31 जुलाई तक शहर के सभी भवनों की जांच कर रिपोर्ट सौंपेंगे. यदि नक्शे के मुताबिक, पार्किंग की सुविधा नहीं मिलती है तो भवन का नक्शा रद्द किया जाएगा.

ये बोली मेयर
मेयर कुसुम सदरेट ने बताया कि निगम ने शहर सरकार के आदेश पर येलो लाइन पार्किंग पॉलिसी को मंजूरी प्रदान कर प्रस्ताव सरकार को भेज दिया है.अब जल्द ही शहर के सभी वार्डों में 11 हजार से ज्यादा वाहनों को पार्किंग करने की क्षमता मिलेगी.

ये भी पढ़ें: हिमाचल के कल्लू में छात्रों ने चंडीगढ़-मनाली हाईवे किया जाम

शिमला बस हादसा: कैंडल मार्च में रो पड़ी मेहल-मान्या की सहेलियां

शिमला MC ने येलो लाइन पार्किंग पॉलिसी को दी मंजूरी

चंबा में नशा पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला, 20 हजार भी लूटे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 3, 2019, 11:04 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...