सेल्फी लेते सतलुज नदी में गिरे युवक-युवती-परिजन बोले-डूबने से मौत के नहीं निशान हैं

शिमला के SP ओमापति जम्वाल का कहना है कि मामले की जांच जारी है लेकिन परिजनों के आरोप तथ्यों के साथ मेल नहीं खा रहे हैं. घटना के वक्त एक लड़की भी युवक के साथ थी.

Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 26, 2019, 12:26 PM IST
सेल्फी लेते सतलुज नदी में गिरे युवक-युवती-परिजन बोले-डूबने से मौत के नहीं निशान हैं
शिमला के रामपुर में सतलुज नदी में गिरे थे युवक और युवती.
Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 26, 2019, 12:26 PM IST
हिमाचल की राजधानी शिमला के रामपुर के नोगली में सतलुज नदी में डूबने से युवक की मौत के मामले पर परिजनो ने सवाल उठाए हैं. परिजनों का कहना है कि पुलिस की सेल्फी वाली कहानी सही नहीं है. परिजनों का कहना है कि यह सुनियोजित हत्या का मामला नजर आ रहा है. परिजनों को रामपुर पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं है. डीजीपी से एसआईटी गठित कर मामले की जांच नए सिरे से करने की मांग की है.

ये है पूरा मामला
बता दें कि 8 जून का यह मामला है और 25 जून को बैहना के पास 24 वर्षीय दीपक की लाश मिली थी. परिजनों का कहना है कि लाश को देखकर नहीं लग रहा है कि डूबने से मौत हुई होगी, बल्कि ऐसा लग रहा है कि कोई लाश को फेंक कर गया है.लाश का केवल उपरी हिस्सा क्षत-विक्षत है, बाकी का हिस्सा सुरक्षित है, जो सामान मिला है वो भी कई सवाल खड़े कर रहा है.

ये बोले एसपी

शिमला के SP ओमापति जम्वाल का कहना है कि मामले की जांच जारी है लेकिन परिजनों के आरोप तथ्यों के साथ मेल नहीं खा रहे हैं. घटना के वक्त एक लड़की भी युवक के साथ थी. दोनों नदी में गिर गए थे. लोगों दोनों को बचाने की कोशिश की, लेकिन लड़की को ही बचा पाए. उन्होंने कहा कि डीएसपी रामपुर मामले की जांच खुद कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें: 14 दिन बाद नहर से मिली युवती की लाश, अफवाहों से थी परेशान

एसिड टैंक फटने से कामगार की मौत, इसी माह हुआ था रेगुलर
First published: July 26, 2019, 11:42 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...