सुर्खियां: हिमाचल में बारिश, महिला अधिकारी ने चौकीदार को जड़े थप्पड़, वीरभद्र का मोदी पर हमला
Shimla News in Hindi

सुर्खियां: हिमाचल में बारिश, महिला अधिकारी ने चौकीदार को जड़े थप्पड़, वीरभद्र का मोदी पर हमला
सांकेतिक तस्वीर.

वीरभद्र ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान घर-द्वार स्कूल खोले ताकि नौनिहालों को पढ़ाई के लिए ज्यादा दूरी तय न करनी पड़े. कांग्रेस सरकार ने अपने पांच साल के कार्यकाल में प्रदेश का एक समान विकास करवाया.

  • Share this:
अमर उजाला ने लिखा है कि पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को धर्म के नाम पर बांट दिया है. इससे देश की एकता प्रभावित हुई है.

मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह चुवाड़ी में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने सभी का विकास करवाने की बात कही थी लेकिन सत्तासीन होने पर उन्होंने केवल पूंजीपतियों का ही विकास करवाया है. वीरभद्र ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान घर-द्वार स्कूल खोले ताकि नौनिहालों को पढ़ाई के लिए ज्यादा दूरी तय न करनी पड़े. कांग्रेस सरकार ने अपने पांच साल के कार्यकाल में प्रदेश का एक समान विकास करवाया. उन्होंने प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अभी तक अपनी घोषणाएं पूरी नहीं की हैं. इससे पहले कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर ने कहा कि भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती अपने जारी ब्यान को लेकर माफी मांगें. उन्होंने कहा कि जब तक वे माफी नहीं मांगते, तब तक कांग्रेस विरोध प्रदर्शन जारी रखेगी. इस मौके पर कांगड़ा-चंबा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी पवन काजल, प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता एवं भटियात विस क्षेत्र के पूर्व विधायक कुलदीप सिंह पठानिया, पूर्व शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव आशा कुमारी, प्रदेश कांग्रेस कमेटी महासचिव केवल सिंह पठानिया सहित अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे.

हिमाचल में बारिश
दिव्य हिमाचल ने लिखा है कि हिमाचल प्रदेश में मंगलवार को मौसम में हुए बदलाव के बाद लोगों ने गर्मी से राहत पाई है. मैदानी क्षेत्रों में ज्यादातर यह बारिश स्थानीय लोगों के अलावा किसानों को लिए भी सोने पर सुहागा है. हालांकि राजधानी शिमला सहित प्रदेश के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में एक बार फिर ठंड ने दस्तक देकर गर्म कपड़े निकालने के लिए मजबूर कर दिया है. मंगलवार को प्रदेश भर के मैदानी, मध्य पर्वतीय और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में तेज हवाओं के साथ ही भारी बारिश हुई है. बताया जा रहा है कि सोलन, बिलासपुर, कांगड़ा में काफी तेज तूफान ने किसानों की फसलों को काफी तबाह किया है. मौसम विभाग के अनुसार मौसम के तेवर अठारह अप्रैल तक ऐसे ही रहेंगे. विभाग ने प्रदेश में तेज हवाएं 50 -60 किलोमीटर प्रति घंटा व इससे अधिक होने की संभावना जताई है. मौसम विभाग की इस चेतावनी से प्रदेश के किसानों की चिंता बढ़ सकती है. आशंका जताई जा रही है कि तेज हवाओं की वजह से फ्लावरिंग को नुकसान हो सकता है. फिलहाल प्रदेश भर में अठारह अप्रैल तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा. विभाग ने 19 अप्रैल के बाद मौसम के साफ बने रहने की संभावना जताई है.
चौकीदार को पीटा


दैनिक जागरण ने लिखा है कि देश में बेशक चौकीदार को लेकर विमर्श चल रहा हो, प्रधानमंत्री खुद को चौकीदार मानते हैं, लेकिन शिमला में एक आला महिला अधिकारी पर चौकीदार की पिटाई करने का आरोप लगा है. हालांकि आइएएस अधिकारी आरोप को नकार रही हैं. आरोप है कि न केवल पिटाई की बल्कि गुस्से में पीड़ित के मोबाइल फोन को भी जंगल में फेंक दिया. चौकीदार ने तीन प्रमुख संगठनों इंटक, बीएमएस और सीटू को भी शिकायत की है. इंटक ने पूरे प्रकरण को पुलिस के साथ उठाने की बात कही है. वहीं, आरोपित महिला अधिकारी ने बताया, वह चौकीदार है या चालक मुझे नहीं पता, लेकिन रविवार को मैंने उसे बुलाया था. उसने निजी वाहन में हिमाचल गवर्नमेंट लिखा था. ऐसा गैर कानूनी है. कल तो अगर हादसा हो जाए तो क्या होगा, सवारियां उठाएं तो क्या होगा.

संबंधित संस्थान को वाहन खरीदने को कहा गया है. मैंने न पिटाई की और न ही मोबाइल फोन छीना और न फेंका., हां, नियमों की पालना करने की बात जरूर समझाई थी. इंटक ने पुलिस में शिकायत की है या नहीं, इसकी जानकारी नहीं है. एक बोर्ड में आउटसोर्स पर कार्यरत चौकीदार चिरंजी उर्फ अरुण कुमार के अनुसार अधिकारी ने रविवार को उसे सैर करवाने के लिए वाहन लेकर मशोबरा बुलाया. इसके लिए उनके निजी सचिव का फोन आया था. सुबह साढ़े आठ बजे शिमला से चला और साढ़े नौ बजे मशोबरा पहुंचा. जीरो प्वाइंट तक उनको लेकर गया. वहां उन्हें उतार दिया. चिरंजी के अनुसार उसके पास दो मोबाइल फोन हैं, इसमें एक खराब है. अधिकारी ने खराब फोन पर कॉल किया था. दूसरे नंबर पर फोन आया तो अधिकारी को लेने दोबारा गया. जैसे ही अधिकारी के पास पहुंचा उन्होंने गुस्से में आकर मेरा मोबाइल फोन फेंक दिया और मुझे कई थप्पड़ मारे.

100 एंबुलेंस के लिए टेंडर करवाए
दैनिक भास्कर ने लिखा है कि राज्य सरकार ने हाईकोर्ट को बताया गया है कि 100 एंबुलेंस के लिए टेंडर करवाए गए हैं. प्रदेश हाईकोर्ट में स्वास्थ्य सुविधाओं के तहत 108 व 102 आपातकालीन एंबुलेंस सेवाओं को मुहैया करवाने को लेकर चल रहे जनहित मामले में राज्य सरकार की ओर से यह जानकारी दी गई.सरकार की ओर से बताया गया कि राज्य में जनजन तक स्वास्थ सुविधा मुहैया करवाने के दृष्टिगत 20 नई एंबुलेंस की व्यवस्था की गई है जबकि 26 नई एंबुलेंस दो सप्ताह के भीतर उपलब्ध करवा ली जाएगी. यहां तक कि 100 अतिरिक्त एंबुलेंस के लिए ई टेंडर जारी कर दिए गए हैं. अपने पिछले आदेश में कोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिया था कि वह पुरानी व खराब पड़ी एंबुलेंसों को बदलने का मामला केंद्र सरकार के समक्ष उठाए. इसके अलावा कोर्ट ने सरकार को सभी राष्ट्रीय राजमार्गों व अन्य मार्गों पर आपातकालीन स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के आदेश भी दिए थे.

ये भी पढ़ें : 11 हजार फीट ऊंची चूड़धार से रेस्क्यू किए युवक-युवती ने ऐसे गुजारे तीन दिन!

मर्यादित भाषा का प्रयोग नहीं करते है भाजपा भाजपा, सत्ती कांग्रेस से मांगें माफी: कौल सिंह

लाहौल-स्पीति के लोगों का सांसदों से हुआ मोहभंग, कहा- 5 साल तक नजर नहीं आते ये

सुर्खियां: हिमाचल में बारिश, महिला अधिकारी ने चौकीदार को जड़े थप्पड़, वीरभद्र का मोदी पर हमला

राहुल गांधी के खिलाफ ‘अभद्र टिप्पणी’ मामले में हिमाचल BJP अध्यक्ष सतपाल सत्ती पर FIR

PHOTOS: हिमाचल प्रदेश के बड़े शहरों में क्या है आज के पेट्रोल-डीजल के भाव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज