Home /News /himachal-pradesh /

लोकसभा चुनाव 2019: हिमाचल के सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों में BJP को लीड

लोकसभा चुनाव 2019: हिमाचल के सभी 68 विधानसभा क्षेत्रों में BJP को लीड

लोकसभा चुनाव 2019. (फाइल फोटो)

लोकसभा चुनाव 2019. (फाइल फोटो)

छह बार के सीएम रहे कांग्रेस नेता वीरभद्र सिंह अपने हलके में भी कांग्रेस को बढ़त नहीं दिला पाए. उन्होंने सोलन के अर्की से विधानसभा चुनाव लड़ा और जीता था. लेकिन उनके विधानसभा क्षेत्र से भाजपा को लीड मिली है.

हिमाचल प्रदेश के लोकसभा चुनाव के इतिहास में इस बार कई रिकॉर्ड बने और कई टूटे. लोगों ने खुलकर भाजपा के पक्ष में वोट डाले हैं और इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हिमाचल प्रदेश की सभी विधानसभा क्षेत्रों से भाजपा को जबरदस्त लीड मिली. सूबे में 68 विधानसभा क्षेत्र हैं. यहां 21 पर कांग्रेस और 44 पर भाजपा का कब्जा है. कांग्रेस विधायक अपने-अपने क्षेत्रों में भी पार्टी को लीड दिलाने में नाकामयाब साबिल हुए.  भाजपा नालागढ़ विधानसभा क्षेत्र से प्रदेश में सबसे अधिक लीड मिली. भाजपा के खाते 39970 वोट भाजपा के सुरेश कश्यप को मिले. इसके अलावा, मंडी के रामस्वरूप के घर और आजाद विधायक प्रकाश राणा के विधानसभा क्षेत्र से भाजपा को 36291 वोटों की लीड मिली. वहीं, सीएम  जयराम ठाकुर के हलके सराज से भाजपा को 37147 वोटों की लीड मिली. कांगड़ा के फतेहपुर से 31 हजार 506 और नुरपुर से 35,506  वोटों की लीड भाजपा प्रत्याशी को मिली. वहीं, मंडी के बल्ह, जो कांग्रेस का गढ़ था, वहां से भी 33168 वोट की लीड भाजपा ने पाई है.

वीरभद्र समेत कई कांग्रेसियों के गढ़ में सेंध
हिमाचल प्रदेश के छह बार के सीएम रहे कांग्रेस नेता वीरभद्र सिंह अपने हलके में भी कांग्रेस को बढ़त नहीं दिला पाए. उन्होंने सोलन के अर्की से विधानसभा चुनाव लड़ा और जीता था. लेकिन उनके विधानसभा क्षेत्र से भाजपा को लीड मिली है. इसके अलावा, पार्टी प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री और पार्टी प्रत्याशी तक अपने गढ़ों को नहीं बचा पाए. वीरभद्र सिंह के विधानसभा क्षेत्र अर्की से भाजपा को 29,454 वोटों की लीड़, मुकेश के अग्निहोत्री विधानसभा क्षेत्र हरोली से 14,921 लीड, कुलदीप राठौर के ठियोग क्षेत्र से 17,310, कर्नल धनीराम शांडिल के विधानसभा क्षेत्र सोलन से 16,188, आश्रय को मंडी के सदर से 27,491, कांग्रेस प्रत्याशी और विधायक रामलाल ठाकुर को विधानसभा क्षेत्र नैनादेवी से 10,833 और कांगड़ा से मौजूदा कांग्रेस प्रत्याशी और विधायक पवन काजल विधानसभा क्षेत्र से भी भाजपा को 23,583 मतों की लीड मिली है.

दिग्गज भी पस्त
वीरभद्र सिंह के नए और पुराने विधानसभा क्षेत्रों में भी मोदी मैजिक ही चला. अर्की, शिमला ग्रामीण और रोहड़ू हलकों में कांग्रेस के सबसे बड़े दिग्गज नेता वीरभद्र सिंह अपने प्रत्याशी को लीड नहीं दिला पाए. अर्की से भाजपा के सुरेश कश्यप को 29,454 वोटों की बढ़त मिली. विधानसभा चुनाव में वीरभद्र सिंह मात्र 6051 वोटों से यहां से जीते थे. शिमला के विधानसभा क्षेत्र शिमला ग्रामीण से भी कांग्रेस पीछे रही. यहां से वीरभद्र के बेटे विक्रमादित्य विधायक हैं. यहां भाजपा को 15,962 मतों की बढ़त मिली. वीरभद्र की परंपरागत सीट रोहड़ू से भी निराशा ही हाथ लगी. यहां भी भाजपा को बढ़त मिली है.

भाजपा को 70 प्रतिशत वोट
चारों सीटें बीजेपी ने लगभग 70 प्रतिशत वोट लेकर जीत दर्ज़ कर नया रिकॉर्ड कायम किया है. पिछली बार 2014 में भी हिमाचल ने 53 प्रतिशत वोट लेकर बनाया था और अब खुद ही उसे तोड़ा है. गौरतलब है कि इस बार हिमाचल में 53 लाख 30 हजार 154 वोटर्स थे. इनमें से करीब 38 वोटरों ने वोट डाला था. चुनाव आयोग के अनुसार, सूबे में बीते 42 साल में सबसे अधिक 73 फीसदी मतदान हुआ था. बंपर जीत पर हिमाचल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सत्ती के मुताबिक, यह पूरे देश में रिकॉर्ड जीत है. पिछली बार 2014 में भी हिमाचल ने 53 प्रतिशत वोट लेकर रिकॉर्ड बनाया था और अब हिमाचल ने खुद ही उसे तोड़ा है. सत्ती ने इसे अविश्वसनीय और अकल्पनीय बताया है. उन्होंने कहा कि यह जीत पीएम मोदी और सीएम जयराम और कार्यकर्ताओं की जीत है.

ये बोले वीरभद्र सिंह
चुनावी नतीजों पर वीरभद्र सिंह ने भी हैरानी जताते हुए कहा कि 55 साल के राजनीतिक जीवन में कांग्रेस पार्टी की ऐसी हार उन्होंने कभी नहीं देखी. उन्होंने कहा कि ऐसी हार की तो कभी उन्होंने कल्पना तक नहीं की थी. वीरभद्र सिंह ने कहा कि भाजपा को हैरतअंगेज जीत मिली है, जो उनके कार्यकर्ताओं की कड़ी मेहनत का नतीजा है. वीरभद्र सिंह ने पार्टी नेताओं को हार पर मंथन करने की नसीहत दी है और दावा किया कि अगले चुनाव में कांग्रेस की जीत होगी.

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: हिमाचल में BJP की 4 सीटों पर धमाकेदार जीत

लोस चुनाव: इन 6 वजहों से अनुराग ठाकुर ने लगाया जीत का ‘चौका’

दादा सुखराम को रिक़ॉर्ड जीत मिली थी, पोते की रिकॉर्ड हार

मंडी से कांग्रेस प्रत्याशी आश्रय शर्मा की हार के पांच कारण!

55 साल के सियासी जीवन में ऐसी हार कभी नहीं देखी-वीरभद्र सिंह

Tags: BJP, Himachal Lok Sabha Elections 2019, Himachal pradesh, Lok Sabha Election Result 2019

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर