लाइव टीवी

मित्र की मौत के बाद सोलन के अरुण भारद्वाज बने मोटिवेशनेल गुरु, अफ्रीका में मिलेगा अवॉर्ड

Kirti Kaushal | News18 Himachal Pradesh
Updated: October 10, 2019, 3:07 PM IST
मित्र की मौत के बाद सोलन के अरुण भारद्वाज बने मोटिवेशनेल गुरु, अफ्रीका में मिलेगा अवॉर्ड
अरुण भारद्वाज को अफ्रीका में उनकी समाजिक सेवाओं के चलते फ्रेंड आॅफ अफ्रीका अवॉर्ड से सम्मनित किया जाएगा.

सोलन जिले के अरुण भारद्वाज को अफ्रीका में उनकी समाजिक सेवाओं के चलते फ्रेंड आॅफ अफ्रीका अवॉर्ड से सम्मनित किया जाएगा.

  • Share this:
सोलन. हिमाचल प्रदेश में सोलन जिले (Solan) के अरुण भारद्वाज (Arun Bhardwaj) को अफ्रीका में उनकी समाजिक सेवाओं के चलते फ्रेंड आॅफ अफ्रीका अवॉर्ड (Friend of Africa Award) से सम्मनित किया जाएगा. आप को बता दें कि अरुण भारद्वाज विश्व में प्रेरक बन कर लोगों को सही राह दिखा रहे है. वह उनके जीवन को एक दिशा दे रहे हैं. अरुण टॉप की मल्टी नेशनल कम्पनियों में अपनी सेवाएं दे चुके हैं. अब वे नौकरी छोड़कर लोगों को डिप्रेशन से बाहर निकलने का मंत्र बांट रहे हैं.

मित्र की डिप्रेशन से हुई मौत के बाद छोड़ दी नौकरी

दरअसल अरुण उनके बेहद करीब मित्र की डिप्रेशन से हुई मौत ने उन्हें अंदर तक झिंझोड़ दिया और उसके बाद उन्होंने नौकरी छोड़ दी. नौकरी छोड़ने के बाद उन्होंने यह प्रण लिया कि वह अपने मित्र की तरह किसी को मौत का ग्रास नहीं बनने देंगे और तब से वह प्रेरक की भूमिका में नज़र आ रहे है. अब वह विश्व के कोने कोने में जा कर लोगों को न केवल डिप्रेशन से निकालते हैं बल्कि उन्हें जीवन जीने की नई राह दिखा कर उनके बेरंग जीवन में रंग भी भरते हैं.

Arun Bhardwaj
अरुण के एक बेहद करीबी मित्र की डिप्रेशन से मौत हो गई, जिसने उन्हें अंदर तक झिंझोड़ दिया.


हिमाचल के युवाओं के लिए करेंगे कार्यशाला

यही वजह है कि बड़ी बड़ी कंपनियां, सरकारी कार्यालय और विदेशों से उन्हें बुला कर उनसे जीवन को सही रूप से जीने की प्रेरणा लेते हैं. अरुण क्योंकि सोलन से है इसलिए वह हिमाचल के लिए विशेषता युवाओं और पथ से भटके लोगों के लिए कुछ करना चाहते हैं. यही वजह है कि उन्होंने सोलन में प्रेस वार्ता कर यह बताया कि वह जल्द हिमाचल के युवाओं के लिए कार्यशाला का आयोजन करेंगे.

'अध्यापकों को ट्रेनिंग की है जरूरत क्योंकि उन्हें युवाओं को राह दिखानी होती है'
Loading...

मोटिवेटर अरुण भारद्वाज ने कहा कि हिमाचल में युवाओं में टैलेंट की कमी नहीं है लेकिन उन्हें सही राह दिखाने में कमी रह जाती है. युवाओं के सही मार्गदर्शक उनके अध्ययापक होते हैं. अध्यापकों को भी ट्रेंड करने की जरूरत है ताकि जो युवा हिमाचल से बाहर जाएं वह प्रतिस्पर्धा में कहीं पीछे न रह जाएं. उन्हें आधुनिक शिक्षा देने की जरूरत होती है. उन्होंने कहा कि बदलते परिवेश में आज युवा वह जानना चाहता है, जो ज्ञान इंटरनेट पर नहीं है.

यह भी पढ़ें: स्वाइन फ्लू से बचाव के लिए IGMC पूरी तरह चौकन्ना, पर्याप्त दवाइयां उपलब्ध करवाने की मांग

'CM बना तो लोगों ने टिप्पणी की यह चलेगा या नहीं, अब उन्हें जबाव मिल गया'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सोलन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 2:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...