Home /News /himachal-pradesh /

हिमाचल में आवारा पशुओं का आतंक: सांड ने बुजुर्ग पर किया हमला, मौके पर ही मौत

हिमाचल में आवारा पशुओं का आतंक: सांड ने बुजुर्ग पर किया हमला, मौके पर ही मौत

सांड के हमले में बुजुर्ग की मौत. (सांकेतिक तस्वीर)

सांड के हमले में बुजुर्ग की मौत. (सांकेतिक तस्वीर)

Bull Attack in Nalagarh: 65 वर्षीय बुजुर्ग की मौके पर ही मौत हो गई. घटना के बाद से ही ग्रामीणों में खासा रोष है.

नालागढ़ (सोलन). हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के सोलन जिले के औद्योगिक क्षेत्र नालागढ़ (Nalagarh) में इन दिनों आवारा और लावारिस पशुओं (Stray Animals) का आंतक चल रहा है. आवारा और लावारिस पशु आए दिन किसी न किसी को अपना शिकार बना रहे है. ताजा मामले में एक बुजुर्ग को अपनी जान गंवानी पड़ी है.

मंदिर से लौट रहा था बुजुर्ग
जानकारी के अनुसार, नालागढ़ के किला पलासी गांव में जब एक बुजुर्ग बाबा बालक नाथ मंदिर से माथा टेकने के बाद वापस अपने घर आ रहा तो रास्ते में सांड ने उस पर हमला कर दिया. हमले में 65 वर्षीय बुजुर्ग की मौके पर ही मौत हो गई. घटना के बाद से ही ग्रामीणों में खासा रोष है.ग्रामीणों ने कहा है कि वह बीते 6 महीने से स्थानीय प्रशासन और सरकार से आवारा पशुओं को लेकर शिकायतें कर रहे हैं, लेकिन ना तो स्थानीय प्रशासन की ओर से कोई कार्रवाई की गई और ना ही सरकार जागी.

कई लोगों पर कर चुका है हमला
ग्रामीणों का कहना है कि इसी आवारा सांड की वजह से एक दर्जन 1 दर्जन के करीब लोग घायल हो चुके हैं और उनका इलाज पंजाब व नालागढ़ के आसपास के अस्पतालों में करवाया जा रहा है. ग्रामीणों का कहना है कि आवारा सांड की वजह से लोगों का अपने घरों से निकलना मुश्किल हो चुका है और हर समय लोग खौफ में जी रहे हैं. लोगों ने सरकार व प्रशासन को एक बार फिर गुहार लगाते हुए कहा है कि इस आवारा सांड को पकड़कर किसी को गौशाला में रखा जाए ताकि वह आगे अपना किसी को शिकार ना बना सके और किसी व्यक्ति की जान ना जा सके.

ये भी पढ़ें:हिमाचल की 13 वर्षीय बेटी अलाइका को राष्ट्रीय बाल वीरता पुरस्कार

शिमला जिला परिषद में उठा मामला: दो माह से लापता राहड़ू का शुभम, CBI करे जांच

Tags: Himachal pradesh news, Solan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर