Himachal: फर्जी वेबसाइट बनाकर बेची डिग्रियां-सर्टिफिकेट, अब तक 2 युवतियों सहित 5 गिरफ्तार

हिमाचल में फर्जी डिग्री मामला.

हिमाचल में फर्जी डिग्री मामला.

Fake Degree Scam: डीएसपी बद्दी नवदीप सिंह की अगवाई में गठित एसआईटी ने जाल बिछाकर गिरोह को पकड़ा है. एसपी बद्दी रोहित मालपानी ने बताया कि पुलिस ने धारा 420, 465, 468,471 व आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया है और पांच लोगों को तीन माह की पड़ताल के बाद गिरफ्तार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2021, 2:03 PM IST
  • Share this:
बद्दी. हिमाचल सहित देश भर के नामी शिक्षण संस्थानों के नाम से फर्जी बेबसाइट बनाकर फर्जी डिग्री (Fake Degree) बेचने का मामला सामने आया है. इसे चलाने वाले गिरोह का बद्दी पुलिस (Baddi Police) ने पर्दाफाश किया है. आरोपियों ने नामी यूनिवर्सिटी, हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड सहित कई राज्यों के शिक्षा बोर्ड की 100 से ज्यादा फर्जी वेबसाइट (Website) तैयार कर रखी थीं. पुलिस ने गिरोह के मास्टरमाइंड समेत पांच लोगों को गिरफ्तार (Arrest) किया गया है. सभी आरोपी न्यायिक हिरासत में हैं.

जानकारी के मुताबिक, गिरोह 10वीं से लेकर डॉक्टर-इंजीनियर की फर्जी डिगियां बनाकर बेचता था और एक डिग्री की कीमत 10 हजार से लेकर एक लाख रुपये तक थी. एसआईटी ने इस मामले में छह हजार से ज्यादा डिग्रियां, सर्टिफिकेट, विभिन्न शिक्षण संस्थानों के प्रिंसीपल, लेक्चरर की डेढ़ सौ से ज्यादा मुहरें सहित अन्य सामग्री बरामद की है.

कम पढ़े लिखे लोग निशाने पर

दिल्ली में सक्रिय यह गिरोह कम पढ़े-लिखे लोगों से मोटी रकम वसूल कर उन्हें मनमाफिक ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट व डिप्लोमा वाले पाठ्यक्रम के फर्जी सर्टीफिकेट तैयार कर मुहैया करवाता था. पुलिस का दावा है कि यह गिरोह कई राज्यों में सक्रिय था. आरोपियों को दिल्ली, पंजाब व उत्तराखंड से गिरफ्तार किया गया है. नोएडा में इन सभी ने कॉल सेंटर बनाया हुआ था.
कैसे आया मामला

यह मामला तब सामने आया जब बरोटीवाला औद्योगिक क्षेत्र में स्थित एक विश्वविद्यालय की एक फर्जी डिग्री पाई गई. पड़ताल में सामने आया कि गिरोह विभिन्न राज्यों में फैले कई एजेंटों के माध्यम से संचालित होता था. बीते बर्ष 15 दिसंबर को पुलिस थाना बरोटीवाला में आईईसी यूनिवर्सिटी कालूझिंड़ा बद्दी के रजिस्ट्रार ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि किसी ने उनकी यूनिवर्सिटी के नाम से मिलते जुलते नाम से फर्जी बेबसाइट बनाई है, जिसके आधार पर साइबर सैल ने टेक्निकल जांच शुरू की, तो शिकायत को सही पाया. डीएसपी बद्दी नवदीप सिंह की अगवाई में गठित एसआईटी ने जाल बिछाकर गिरोह को पकड़ा है. एसपी बद्दी रोहित मालपानी ने बताया कि पुलिस ने धारा 420, 465, 468,471 व आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया है और पांच लोगों को तीन माह की पड़ताल के बाद गिरफ्तार किया है.

पुलिस की गिरफ्त में आए ये शातिर



पुलिस ने सरगना एनान अहमद (34) बिहार, मोहम्मद सलीम (29) दिल्ली, भारती (28) दिल्ली को पांच फरवरी को नोएडा से गिरफ्तार किया था. इसके बाद, आठ फरवरी को चौथे आरोपी मनीष (32) पुत्र लेखराज निवासी फाजिल्का पंजाब को गिरफ्तार किया. इसके अलावा, पांचवी आरोपी अर्चना सिंह (31) यूपी को हरिद्वार से गिरफ्त में लिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज