लाइव टीवी

हरियाणा में प्राकृतिक खेती की विभिन्न विधियों को सीखेंगे नालागढ़ के किसान

Jagat Singh Bains | News18 Himachal Pradesh
Updated: January 29, 2020, 2:33 PM IST
हरियाणा में प्राकृतिक खेती की विभिन्न विधियों को सीखेंगे नालागढ़ के किसान
22 किसानों के दल को उपमंडलाधिकारी नालागढ़ प्रशांत देष्टा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.

'प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना' के अंतर्गत नालागढ़ के 22 किसानों का एक समूह हरियाणा के गुरुकुल प्राकृतिक खेती फार्म हाउस (Gurukul Natural Farming Farm House) के लिए रवाना हुआ. ये किसान डॉक्टर सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती तकनीक (Dr. Subhash Palekar natural farming techniques) पर आधारित खेती की विभिन्न तकनीकों के बारे में व्यावहारिक जानकारी हासिल करेंगे.

  • Share this:
सोलन. 'प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना' के अंतर्गत विकास खंड नालागढ़ के 22 किसानों का एक समूह प्रशिक्षण हासिल करने हेतु हरियाणा राज्य के गुरुकुल प्राकृतिक खेती फार्म हाउस (Gurukul Natural Farming Farm House) के लिए रवाना हुआ. सभी किसान प्राकृतिक खेती (Natural Farming) की विभिन्न विधियों (Methods) के बारे में जानकारी हासिल करेंगे. 22 सदस्यों के इस कृषक समूह (Farming community)को उपमंडलाधिकारी नालागढ़ प्रशांत देष्टा ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.

देसी गायों की नस्लों के बारे में भी जानकारी दी जाएगी

उपमंडलाधिकारी ने बताया कि विकास खंड नालागढ़ के किसानों का यह समूह 29 से 31 जनवरी तक हरियाणा स्थित गुरुकुल प्राकृतिक खेती फार्म हाउस में डॉक्टर सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती तकनीक पर आधारित खेती की विभिन्न तकनीकों के बारे में व्यावहारिक जानकारी हासिल करेगा. उन्होंने बताया कि इस प्रशिक्षण एवं भ्रमण कार्यक्रम के दौरान किसानों को प्राकृतिक खेती की विभिन्न तकनीकों के साथ-साथ भारतीय नस्ल की विभिन्न देसी गायों की नस्लों के बारे में भी जानकारी दी जाएगी.

उपमंडलाधिकारी ने बताया कि विकास खंड नालागढ़ के किसानों का यह समूह 29 से 31 जनवरी तक हरियाणा स्थित गुरुकुल प्राकृतिक खेती फार्म हाउस में प्रशिक्षण लेगा.


900 किसान ले चुके हैं प्रशिक्षण

विषयवाद विशेषज्ञ कृषि विभाग प्रेमचंद ठाकुर ने बताया कि इस कृषि प्रशिक्षण एवं भ्रमण कार्यक्रम में शामिल सभी किसान पहले से ही प्राकृतिक खेती पर आधारित कृषि व्यवसाय से जुड़े हुए हैं. ये सभी वर्तमान में प्राकृतिक विधि से विभिन्न प्रकार की सब्जियां व दलहनी फसलें उगा रहे हैं. उन्होंने बताया कि विकासखंड नालागढ़ के अंतर्गत कृषि विभाग द्वारा इससे पहले करीब 900 किसानों को इस प्रकार का प्रशिक्षण दिया जा चुका है. उन्होंने बताया कि वर्तमान में विकासखंड नालागढ़ के 590 किसान डॉक्टर सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती तकनीक पर आधारित खेती कार्य को अंजाम दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि भविष्य में कृषि विभाग का यह प्रयास है कि ज्यादा से ज्यादा किसान प्राकृतिक खेती को अपनाएं.

ये भी पढ़ें - महिला डॉक्टर से छेड़छाड़ केस में पुलिस जांच पूरी, कोर्ट को भेजी क्लोजर रिपोर्टये भी पढे़ं - सिरमौर के हरिपुरधार में देर रात हुई बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त,पर्यटक फंसे

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सोलन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 29, 2020, 2:33 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर