जंगल की आग घर तक पहुंची, महिला बुरी तरह झुलसी और हुआ यह सब

सोलन में बसाल के जंगलों में कई दिनों से आग लगी हुई थी. सोमवार को आग रिहायशी इलाकों तक पहुंच गई और महिला बुरी तरह से झुलस गई.

Kirti Kaushal | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 10, 2019, 7:06 PM IST
Kirti Kaushal | News18 Himachal Pradesh
Updated: June 10, 2019, 7:06 PM IST
हिमाचल प्रदेश के सोलन में बसाल में कई दिनों से जंगल में आग लगी हुई थी. सोमवार को यह आग परसकर रिहायशी इलाकों तक पहुंच गई और एक घर पूरी तरह से आग की चपेट में आ गया. घर के भीतर एक अकेली महिला थी. लोग घर के बाहर खड़े थे, लेकिन आग इतनी तेज थी कि अंदर जाने की हिम्मत कोई भी जुटा नहीं पा रहा था. एक दिलेर व्यक्ति विवेक ने घर तक जाने का प्रयास किया लेकिन वह भी कुछ दूर तक ही जा सका और सांस घुटने से वह भी बेहोश हो कर गिर पड़ा. लोगों ने बड़ी मशक्कत के साथ उस व्यक्ति को बाहर निकाला. इतनी ही देर में घर के अंदर धुआं बढ़ता जा रहा था सांस लेना भी मुश्किल हो चला था इसलिए महिला ने हिम्मत जुटाई और अपने कुत्ते के साथ घर से बाहर निकल गई . इस क्रम में महिला करीब 20 फीसदी झुलस गई. आग की सूचना मिलने के दो घंटे बाद दमकल विभाग की गाड़ी पहुंची तब तक स्थानीय लोगों की मदद से बुझाई जा चुकी थी.

दमकल विभाग की गाड़ी दो घंटे देरी से पहुंची

महिला ने रोष प्रकट करते हुए बताया कि दमकल विभाग दो घंटे देरी से पहुंचा तब तक आग अपना तांडव दिखा चुकी थी और वह आग से बुरी तरह से झुलस चुकी थी. उन्होंने मांग की है कि जंगलों में जो भी व्यक्ति आग लगाता है, उस पर सख्त से सख्त कार्रवाई अमल में लानी चाहिए ताकि भविष्य में एसी नौबत किसी पर न आए.

सारी लकड़ियां और पशुओं का चारा जल गया

गांव के अन्य व्यक्ति निंदी ने कहा कि उनके घर में शादी थी और इसलिए खाना बनाने के लिए लकड़ियां काट कर रखी थी, वह सब जल गई. उनके पशुओं का चारा भी जल गया और साथ में उनके बगीचे को भी भारी नुकसान पहुंचा है. उन्होंने भी दमकल विभाग पर आरोप लगाया कि अगर वह समय पर आ जाते तो इस आग पर जल्दी काबू पाया जा सकता था.

विवेक शर्मा ने बताया कि दमकल विभाग बेहद देरी से पहुंचा और जब उनसे देरी से आने का कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि विभाग के पास उस समय फायर ब्रिगेड की गाड़ी उपलब्ध नहीं थी.

उन्होंने रोष जताते हुए कहा कि जंगल में आग लगी है, लेकिन पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर अपना पल्ला झाड़ लिया है. उन्होंने कहा कि जब तक जंगलों में आग लगाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में नहीं लाई जाती तब तक जंगलों में इसी तरह से आग लगती रहेगी.
Loading...

यह भी पढ़ें: कचरा-कचरा कुल्लू, HC ने डंपिंग साइट चिन्हित करने के दिए थे निर्देश

ऊना में बीमारी को न्योता! कई सालों से नहीं हुई फूड सैंपलिंग
First published: June 10, 2019, 6:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...