लाइव टीवी

आप के बच्चे जिम जा रहे हैं तो इनसे दूर रहें, अन्यथा हो सकते हैं ये दुष्परिणाम

Kirti Kaushal | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 15, 2019, 6:53 PM IST
आप के बच्चे जिम जा रहे हैं तो इनसे दूर रहें, अन्यथा हो सकते हैं ये दुष्परिणाम
जिम ट्रेनर युवाओं को थोड़े से पैसे की लालच में उन्हें तरह तरह के स्टिरॉइड और सप्लीमेंट दे रहे हैं, जो घातक हैं.

डॉक्टरों का कहना है कि अगर आप के बच्चे जिम जाते हों तो सावधान हो जाइये, क्योंकि जिम ट्रेनर (Gym Trainer)आज कल बच्चों को थोड़े से पैसे की लालच में उन्हें तरह तरह के स्टिरॉइड (Steroid) और सप्लीमेंट (Suppliment) दे रहे हैं.यह बहुत नुकसानदायी हैं.

  • Share this:
सोलन.अगर आप के बच्चे जिम जाते हों तो सावधान हो जाइये, क्योंकि जिम ट्रेनर (Gym Trainer)आज कल बच्चों को थोड़े से पैसे की लालच में उन्हें तरह तरह के स्टिरॉइड (Steroid) और सप्लीमेंट (Suppliment) दे  रहे हैं. जिम जाने वाले युवक और युवतियों को शारीरिक रूप मजबूत दिखने के लिए ट्रेनर उन्हें ये सप्लीमेंट देते हैं. जिम जाने वाले जो युवक और युवती भारी वजन वाले होते हैं, उन्हें ये ट्रेनर वजन गिराने के लिए फैट कटर लेने की सलाह देते हैं. जिम संचालक यह सभी प्रोडक्ट बिना किसी डॉक्टरी सलाह के और बिना किसी अनुभव के युवाओं को बेचते हैं. युवक और युवती सुंदर और सुडौल दिखने की चाह में इन सिटरॉइड और सप्लीमेंट का सेवन करने लग जाते हैं. थोड़े समय बाद उनके शरीर में यह दवाइयां अपने साइड इफैक्ट दिखाने लगती हैं. यही वजह है कि धीरे धीरे उनका शरीर खराब होने लगता है और वे कई तरह की एलर्जी के शिकार होने लगते हैं. बाल झड़ने लगते हैं. विभिन्न तरह के चर्म रोग होने लगते हैं, इसलिए इन सभी से युवाओं को बचना चाहिए और जो प्राकृतिक रूप से सप्लिमेंट उपलब्ध है वह लेना चाहिए. यह बात डॉ. कमल अटवाल और डॉक्टर अमित ने सोलन में कही.

प्राकृतिक सप्लीमेंट पर भरोसा करें

डॉक्टरों का कहना है कि जो भी युवा सप्लीमेंट और शरीर का वजन कम करने और वजन बढ़ाने की दवाएं ले रहे हैं, वह बेहद ही घातक सिद्ध हो रही हैं. शुरूआती तौर पर यह शरीर को अच्छा कर देती है लेकिन बाद में यह आप की स्किन को खराब कर देती हैं. युवाओं के बहुत ही कम उम्र में बाल झड़ने लग जाते हैं. उनका कहना है कि इन सप्लीमेंट से किडनियां तक खराब हो जाती है. इन ​सप्लीमेंट के लगातार लेने से लंबे वक्त में डिप्रेशन में चला जा सकता है. युवक आत्महत्या तक कर लेते हैं, इसलिए हमें प्रकृति ने जो सप्लीमेंट दिए है उन्हें उपयोग में लाना चाहिए क्योंकि उस से हमारे शरीर को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है.



डॉक्टरों ने बताया कि दवाइयों से ज्यादा अच्छा असर प्राकृतिक सप्लीमेंट का पड़ता है. उन्होंने बताया कि अगर युवा जिम जा रहे हैं तो आवश्यकता है कि वह अनुभवी जिम ट्रेनर से ही एक्सरसाइज़ करें और किसी भी तरह की सिथेंटिक सप्लीमेंट उपयोग में ना लाएं.

कौन सी है प्राकृतिक लीगल स्टीरॉइड

चिकित्सक अमित ने बताया कि ऐसे कई प्राकृतिक लीगल स्टिरॉइड उपलब्ध है जिन्हें प्लांट स्टिरॉइड के नाम से भी जाना जाता हैं. इनमें स्पाइनेज, फ्लेवाबीन्स, किनोवा, एवोकैडो, एस्परिग्स, सालमन फिश हैं, लेकिन यह स्टिरॉइड भी ज्यादा समय के लिए नहीं लेने चाहिए क्योंकि ज्यादा समय तक यह खाने से यह भी दुष्प्रभाव शरीर पर डाल सकते हैं.
Loading...

यह भी पढ़ें: जयराम सरकार ने CRPF को दी 260 एकड़ भूमि, कांगड़ा में तैयार होंगे कोबरा कमांडो

जयराम कैबिनेट में विस्तार: संगठन-सरकार में मंथन, ये बनाए जा सकते हैं मंत्री

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सोलन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 6:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...