सोलन हादसा: दोनों बेटों के सामने इमारत के साथ जमींदोज हो गई मां

हादसे में 14 लोगों की मौत हो गई, वहीं, 28 लोगों को रेस्क्यू किया गया. मृतकों में 13 फौजी जवान हैं, जबकि एक महिला शामिल है. जानकारी के अनुसार, हादसे के दौरान इस चार मंजिला ढाबे के अंदर कुल 42 लोग थे. इनमें 30 सेना के जवान और 12 सिविलियन थे.

Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 15, 2019, 5:40 PM IST
सोलन हादसा: दोनों बेटों के सामने इमारत के साथ जमींदोज हो गई मां
सोलन में चार मंजिला इमारत रविवार को धराशाई हो गई थी.
Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 15, 2019, 5:40 PM IST
हिमाचल प्रदेश के सोलन के कुमारहट्टी-नाहन मार्ग में गिरी चार मंजिला इमारत कई लोगों को जख्म दे गई. हादसे में जहां सेना के 13 जवानों की मौत हो गई, वहीं, ढाबा मालिक की पत्नी की भी जान गई है. ढाबा मालकिन अर्चना घटना के चंद मिनट पहले ही अंदर गईं थीं और फिर लाश के रूप में बाहर निकाली गईं. वह अपने परिवार के साथ चार मंजिला इमारत के सबसे निचले माले पर रहती थीं.

पड़ोस में खेल रहे थे बच्चे
हादसे के पड़ोसी प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि महिला ने अपने दोनों बच्चों हादसे से कुछ वक्त पहले ही उनके घर पर छोड़ा था. उन्होंने बताया कि हादसे के बाद जब बिल्डिंग जमींदोज हो गई तो बच्चों ने मां की सलामती के लिए दुआ भी मांगी. पड़ोसी महिला ने बताया कि एकाएक ऐसा लगा कि बादल फट गया. बता दें कि ढाबा मालिक साहिल की पत्नी अर्चना के दो बच्चे हैं. एक आदित्य छठीं में, जबकि दूसरा बेटा अर्णब दूसरी कक्षा में पढ़ता है. हादसे के वक्त महिला का पति साहिल किसी काम से शहर से बाहर गया था.

30 घंटे चला रेस्क्यू ऑपरेशन

सोलन जिले के कुम्हारहट्टी-नाहन मार्ग पर रविवार को एक बहुमंजिला इमारत ढहने से हुए हादसे का 30 घंटे चला रेस्क्यू ऑपरेशन सोमवार दोपहर ढाई बजे के करीब खत्म हो गया. हादसे में 14 लोगों की मौत हो गई, वहीं, 28 लोगों को रेस्क्यू किया गया. मृतकों में 13 फौजी जवान हैं, जबकि एक महिला शामिल है. जानकारी के अनुसार, हादसे के दौरान इस चार मंजिला ढाबे के अंदर कुल 42 लोग थे. इनमें 30 सेना के जवान और 12 सिविलियन थे. सेना के 30 जवानों में से जहां 13 की मौत हो गई, वहीं रेस्क्यू किए गए 12 आम नागरिकों में से एक महिला को जान से हाथ धोना पड़ा.

ढाबे में खाना खाने रुके थे जवान
दरअसल, सेना के कुछ अधिकारियों का प्रमोशन हुआ था. रविवार को छुट्टी थी. ऐसे में सभी 30 जवान ढाबे पर खाना खाने आए थे. लेकिन इस दौरान यह हादसा हो गया. इनमें हरियाणा, हिमाचल और अन्य राज्य के जवान शामिल थे. घायलों का सोलन के धर्मपुर अस्पताल और निजी अस्पताल में भी इलाज चल रहा है. घायल जवान सुरजीत ने बताया कि वह ढाबा में खाना खा रहे थे. तभी अचानक धरती हिलने लगी और फिर देखते ही देखते पूरी इमारत ताश के पत्तों की तरह ढह गई. सुरजीत ने बताया कि सभी जवान डगशाई बटालियन के जवान हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें: सोलन हादसा: रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म, 13 जवानों समेत 14 की मौत

सोलन हादसा: धराशाई मकान की अंदर की शानदार Exclusive तस्वीरें
First published: July 15, 2019, 4:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...