Solan MC Elections: BJP को झटका, कांग्रेस की पूनम मेयर और राजीव बने डिप्टी मेयर

सोलन नगर निगम चुनाव में जीत के बाद कांग्रेस नेता.

सोलन नगर निगम चुनाव में जीत के बाद कांग्रेस नेता.

MC Elections in Himachal: इससे पहले, धर्मशाला और मंडी नगर निगम में भाजपा के मेयर और डिप्टी मेयर बने हैं. वहीं, पालमपुर में कांग्रेस का कब्जा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 17, 2021, 8:05 AM IST
  • Share this:
सोलन. सोलन नगर निगम मेयर चुनाव (Solan MC Elections) में कांग्रेस ने बाजी मार ली है. 17 पार्षदों वाले नगर निगम में कांग्रेस ने मेयर और डिप्टी मेयर पद पर कब्जा कर लिया. कांग्रेस पार्षद पूनम ग्रोवर को मेयर और राजीव कौड़ा को डिप्टी मेयर चुना गया है. पूनम ने 17 में से नौ वोट मिले. बता दें कि हाल ही में पहली बार सोलन नगर निगम बना है और चुनाव हुए हैं. कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर (Kuldeep Singh Rathore) ने कहा कि पूनम ग्रोवर पहले ढाई वर्ष और उसके बाद सरदार सिंह ठाकुर अगले ढाई वर्ष तक महापौर होंगे, जबकि उपमहापौर पर फैसला बाद में लिया जाएगा.

बीते मंगलवार को कांग्रेस के नौ पार्षदों को शपथ दिलाई थी, जबकि भाजपा पार्षद शपथ समारोह में नहीं पहुंचे थे, जिस कारण मेयर और उपमेयर का उस दिन चुनाव नहीं हो सका था. चर्चा थी कि भाजपा दोनों पद पाने के लिए क्रास वोटिंग करवा सकती है, इसलिए कांग्रेस अपने सभी नौ पार्षदों को शिमला के शोघी में एक रिसॉर्ट में ले आई थी. शुक्रवार को भाजपा पार्षदों को भी शपथ दिलाई, जिसके बाद महापौर और उप महापौर का चुनाव किया गया.

सोलन नगर निगम चुनाव में जीत के बाद कांग्रेस.


भाजपा ने निर्दलीय को ही बना दिया मेयर का उम्मीदवार
सोलन नगर निगम में मेयर और डिप्टी मेयर पद पर कब्जा करने का भाजपा का आखिरी दांव भी फेल हो गया. भाजपा ने अपने सात पार्षद होने के बावजूद मेयर पद के लिए एकमात्र जीते निर्दलीय पार्षद मनीष सोपाल को अपना उम्मीदवार बना दिया, लेकिन कांग्रेस पार्षद पूनम ग्रोवर ने नौ वोट हासिल कर मेयर पद पर कब्जा कर लिया. 17 पार्षदों वाले सोलन नगर निगम में कांग्रेस के नौ, भाजपा के सात और एक निर्दलीय पार्षद की जीत हुई थी.

राठौर ने लगाए आरोप

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने भाजपा पर संगीन आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि सोलन नगर निगम पर कब्जा करने के लिए भाजपा ने हर हथकंडा अपनाया. चुनाव में पसीना बहाने के बावजूद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और चुनाव प्रभारी रहे भाजपा विधायक डॉ. राजीव बिंदल का जादू नहीं चल सका. भाजपा क्रॉस वोटिंग के दम पर दोनों पदों पर कब्जा करने की फिराक में थी, लेकिन कांग्रेस ने अपने नौ पार्षदों को एकजुट रखकर सत्तारूढ़ राजनीतिक दल को करारा झटका दिया है. गौरतलब है कि धर्मशाला और मंडी में भाजपा के मेयर बने हैं. वहीं, पालमपुर में कांग्रेस का कब्जा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज