पुल से गुजरते समय पैर फिसला, बालद नदी में गिरने से मजदूर की मौत

प्रवासी मजदूर नालागढ़ की बालद नदी पर बने पुल से होता हुआ दूसरी ओर जा रहा था. इसी दौरान अचानक पीछे से आ रही गाड़ी का हॉर्न सुनकर वह घबरा गया और उसका पैर पुल पर फिसल गया. इसके चलते वह नीचे बह रही नदी में गिर गया.

Jagat Singh Bains | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 10, 2019, 5:29 PM IST
Jagat Singh Bains | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 10, 2019, 5:29 PM IST
नालागढ़ की बालद नदी में डूबने से एक प्रवासी मजदूर की मौत हो जाने का मामला सामने आया है. घटना शुक्रवार दोपहर करीब 2 बजे की बताई जा रही है. बताया जा रहा है कि एक मजदूर बालद नदी पर बने पुल से होता हुआ दूसरी ओर जा रहा था. इसी दौरान अचानक पीछे से कोई गाड़ी आई. गाड़ी के हॉर्न की आवाज सुनकर मजदूर घबरा गया और उसका पैर पुल पर फिसल गया. इसके चलते वह नीचे बह रही नदी में गिर गया. पुलिस व मजदूर के परिजनों द्वारा उसे नदी में ढूंढने की कोशिश की गई. लेकिन शुक्रवार को हुई तेज बारिश के कारण नदी का जलस्तर ज्यादा हो जाने की वजह से उसका कोई पता नहीं चल पाया.

पूरी रात चला सर्च ऑपरेशन 

पुलिस और स्थानीय प्रशासन द्वारा पूरी रात मजदूर को ढूंढने के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया जाता रहा.


पुलिस और स्थानीय प्रशासन द्वारा पूरी रात मजदूर को ढूंढने के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया जाता रहा. सुबह करीब 10:30 बजे प्रवासी मजदूर का शव पत्थरों के बीच फंसा हुआ मिला. फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए नालागढ़ अस्पताल में भेजवा दिया है. साथ ही मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है.

बताया जा रहा है कि प्रवासी मजबूर बीते 3 सालों से झाड़माजरी के पास रहा करता था. वह यहीं पर एक दवा कंपनी में काम करता था. मृतक की मौत के बाद उसके परिवार में उसकी पत्नी और 4 बच्चे रह गए हैं.

ये भी पढ़ें - पागल कुत्ते ने 3 को काटा,गुस्साए लोगों ने कुत्ते को मार डाला

ये भी पढ़ें - धर्मशाला: नेपाली लड़कियों से कराती थी जिस्मफरोशी
First published: August 10, 2019, 4:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...