14 दिन बाद नहर से मिली 19 वर्षीय युवती की लाश, अफवाहों से थी परेशान

मृतक युवती के पिता का कहना है कि सुसाइड नोट के मुताबिक, बेटी ने आईटीआई प्रशासन और आईटीआई के लड़के-लड़कियों से परेशान करने की बात कही है. उसके मुताबिक आईटीआई प्रशासन के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए और उनकी बेटी को न्याय दिलाना चाहिए.

Jagat Singh Bains | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 25, 2019, 6:07 PM IST
14 दिन बाद नहर से मिली 19 वर्षीय युवती की लाश, अफवाहों से थी परेशान
नहर से 14 दिन बाद युवती की लाश मिली है.
Jagat Singh Bains | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 25, 2019, 6:07 PM IST
हिमाचल के सोलन के उपमंडल नालागढ़ के तहत दभोटा गांव की 19 वर्षीय युवती के सुसाइड मामले में पुलिस को 14 दिन के बाद युवती का शव रोपड़ के साथ की नहर में मिला है. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम व फोरेंसिक टेस्ट के लिए आईजीएमसी शिमला भेज दिया है. पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के बाद ही कारणों का खुलासा हो पाएगा. फिलहाल. पुलिस मामले में गहनता से जांच की बात कह रही है.

ये है मामला
11 जुलाई को दभोटा गांव की 19 वर्षीय युवती हर रोज की तरह नालागढ़ आईटीआई गई, लेकिन शाम तक जब घर नहीं पहुंची तो उसके परिजन परेशान हो गए. उन्हें आईटीआई प्रशासन ने कहा कि उनकी बेटी आईटीआई से चली गई है लेकिन उनकी बेटी घर नहीं पहुंची. इतने में साथ लगते पंजाब बॉर्डर पर भरतगढ़ पुलिस ने सूचित किया कि एक सुसाइड नोट और एक बैग बड़ा पिंड गांव के पास नहर किनारे मिला है. परिजन मौके पर पहुंचे तो उन्होंने बैग को पहचान लिया कि यह उनकी बेटी का है.

संबंधों को लेकर अफवाह से परेशान थी

पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला था, जिसमें युवती ने कहा था कि आईटीआई प्रशासन और आईटीआई के छात्र-छात्राएं उसे उसकी दोस्त के बीच गलत संबंधों को लेकर अफवाह फैला रहे हैं. उन्हें आईटीआई प्रशासन की ओर से परेशान किया जा रहा है. युवती ने सुसाइड नोट में कहा था कि वह आईटीआई प्रशासन से तंग आकर सुसाइड कर रही है.

दोस्त ने जड़े गंभीर आरोप
युवती की एक दोस्त ने बताया कि वे दोनों आईटीआई नालागढ़ में इकट्ठे पढ़ते थी. दोनों में अच्छी दोस्ती थी. 11 जुलाई को जब वे दोनों अपनी क्लास में थे तो पहले तो आईटीआई की लड़कियों ने गलत कहा और दोनों के रिश्ते को गलत संबंध बताकर अपवाह फैलाई. जब उन्होंने इस बात का विरोध किया तो एक लड़के ने उसके साथ गंदी बात कर दी, तब उसने उस लड़के को थप्पड़ मार दिया. उसके बाद उस लड़के और आईटीआई के अन्य छात्रों ने उनके साथ मारपीट की.
Loading...

कुछ लड़के-लडकियां जिम्मेदार
आईटीआई प्रशासन उन्हें निकालने की बात कह रहा था. वह जैसे ही कॉलेज से बाहर आई तो घर की ओर चली गई. उसकी दोस्त अपने घर चली गई. लेकिन बाद में पता चला कि उसने परेशान होकर नहर में छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली. उन्होंने कहा कि उसकी दोस्त ने खुदकुशी की है, उसका जिम्मेदार आईटीआई प्रशासन और आईटीआई की लड़के और लड़कियां हैं.

ये बोले पिता
मृतक युवती के पिता का कहना है कि सुसाइड नोट के मुताबिक, बेटी ने आईटीआई प्रशासन और आईटीआई के लड़के-लड़कियों से परेशान करने की बात कही है. उसके मुताबिक आईटीआई प्रशासन के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए और उनकी बेटी को न्याय दिलाना चाहिए.
First published: July 25, 2019, 6:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...