सोलन हादसा: अब तक 13 फौजी जवानों समेत 14 की मौत

सोलन जिले के कुम्हारहट्टी-नाहन मार्ग पर रविवार को एक बहुमंजिला इमारत गिर गई. इस हादसे में 11 लोग मारे गए हैं, जिनमें छह सैनिक भी शामिल हैं.

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 15, 2019, 1:32 PM IST
सोलन हादसा: अब तक 13 फौजी जवानों समेत 14 की मौत
सोलन के कुम्हारहटी में दर्दनाक हादसे में अबतक 11 लोगों की मौत हो चुकी है.
Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 15, 2019, 1:32 PM IST
हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले के कुम्हारहट्टी-नाहन मार्ग पर रविवार को एक बहुमंजिला इमारत गिर गई. इस इमारत के अंदर सेना के करीब 35 जवान मौजूद थे, जिनमें से 17 को बचा लिया गया है. इस हादसे में अब तक 13 जवानों समेत 14 लोगों की मौत हो चुकी है. सोलन के एडीएम विवेक चंदेल ने मृतकों की संख्या की पुष्टि करते हुए बताया कि इनमें सैनिक भी शामिल है.

इमारत के मलबे में अभी भी सेना के कई जवान फंसे हुए थे. सेना के जवानों को मलबों में से निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन अभी भी जारी है. राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने घटनास्थल पर पहुंचकर जायजा लिया और इस घटना की जांच के भी आदेश दे दिए हैं.

ढाबे में खाना खाने रुके थे सेना के जवान

solan accident- सोलन हादसा
सेहाज तंदूरी ढाबे में सेना के जवान खाना खाने आए थे, जहां एक बहुमंजिला इमारत के इस ढाबे पर गिरने से छह सैनिकों की मौत हो गई.


इस बिल्डिंग के मलबे में से निकाले गए सात घायलों को सोलन के धर्मपुर अस्पताल में दाखिल कराया गया है. वहीं सोलन के परवाणू और सोलन जिला मुख्यालय से सात एंबुलेंस को मौके के लिए रवाना कर दिया गया है. इस बिल्डिंग में ढाबा चल रहा था, जहां बीते रविवार को 34 जवान खाना खा रहे थे.

'छुट्टी का दिन था इसलिए हमने बाहर खाने का बनाया था प्लान'

इस घटना में घायल हुए जवान सुरजीत ने बताया कि वह ढाबा में खाना खा रहे थे. उन्होंने बताया कि आचानक धरती हिलने लगी और फिर देखते ही देखते पूरी इमारत ताश के पत्तों की तरह बिखर गई. सुरजीत ने बताया कि सभी जवान डगशाई बटालियन के जवान हैं और कल वीकली ऑफ होने के चलते हम सभी ने लंच बाहर करने का प्लान बनाया था.
Loading...

बिल्डिंग के मालिक की पत्नी भी इस घटना की शिकार, हालत गंभीर
बिल्डिंग के मालिक साहिल कुमार का परिवार भी यहीं रहता था. गनीमत रही कि हादसे के वक्त बच्चे बाहर खेल रहे थे लेकिन साहिल की पत्नी मलबे में दब गई थी जिसे गंभीर हालत में बाहर निकाला गया.

यह जांच का विषय है, हम जांच करेंगे: केसी चमन, डीसी, सोलन
सोलन के डीसी के सी चमन ने कहा कि इमारत गिरने की वजह क्या रही, यह जांच का विषय है. हम इसकी जांच करेंगे. उन्होंने बताया कि यह बिल्डिंग दस साल पहले यानि 2009 में बनाई गई थी. कुछ समय पहले इस बिल्डिंग में एक मंजिल और बढ़ा दी गई थी. बिल्डिंग के मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जा चुकी है.

यह भी पढ़ें: शिमला में अब सिर्फ ढाई मंजिल ही बन सकेंगे मकान, NGT के फैसले को सरकार ने दी चुनौती

हिमाचल: विदेशी निवेशकों ने अभी तक 23 हजार करोड़ के किए MoU साइन: जयराम ठाकुर
First published: July 15, 2019, 7:58 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...