सोलन: इस बार नहीं होगा शूलिनी मेला, ऑनलाइन होंगे दर्शन, ऐसे चढाएं चढ़ावा
Solan News in Hindi

सोलन: इस बार नहीं होगा शूलिनी मेला, ऑनलाइन होंगे दर्शन, ऐसे चढाएं चढ़ावा
सोलन में शूलिनी मेला इस बार आयोजित नहीं होगा.

डीसी सोलन (DC Solan) केसी चमन ने यह जानकारी दी है. उनका कहना है कि कोरोना संकट के चलते मेले का आयोजन नहीं हो पाएगा. हालांकि, जिला प्रशासन यह योजना बना रहा है कि माता की शोभायात्रा किस तरह निकाली जा सकती है.

  • Share this:
सोलन. देवभूमि हिमाचल प्रदेश की आस्था पर भी कोरोना (Corona) की मार पड़ी है. सूबे के तमाम मंदिर बंद हैं और वहीं, कई धार्मिक मेलों को स्थगित कर दिया गया है. ताजा मामला सोलन जिले से हैं. यहां इस बार तीन दिवसीय शूलिनी मेला आयोजित नहीं होगा. डीसी सोलन (DC Solan) केसी चमन ने यह जानकारी दी है. उनका कहना है कि कोरोना संकट के चलते मेले का आयोजन नहीं हो पाएगा. हालांकि, जिला प्रशासन यह योजना बना रहा है कि माता की शोभायात्रा किस तरह निकाली जा सकती है.

इसलिए अहम है मेला
सोलन शहर का नाम माता शूलिनी के नाम पर ही पड़ा है. शूलिनी माता पर सभी शहर वासियों की भारी आस्था है. लोगों की मान्यता है कि शूलिनी माता के आशीर्वाद के कारण सोलन में कोई भी आपदा और विपदा नहीं आती है. सोलन में प्रत्येक वर्ष जून माह के अंत में तीन दिवसीय राज्य स्तरीय शूलिनी मेले का आयोजन किया जाता है. बड़ी संख्या में श्रद्धालु इसमें भाग लेते हैं. मेले के दौरान माता शूलिनी की शोभायात्रा निकाली जाती है और माँ शूलिनी अपनी बहन से मिलने गंज बाज़ार स्थित मंदिर में जाती है. तीसरे दिन माता अपने मंदिर में दोबारा विराजमान होती है. बाज़ारों में तीन दिनों तक दिन रात भंडारों का आयोजन किया जाता रहा है लेकिन इस बार ऐसा नजारा नहीं देखने को मिलेगा.

यह बोले डीसी



उपायुक्त सोलन केसी चमन ने बताया कि कोरोना संकट के चलते इस बार शूलिनी मेले का आयोजन नहीं होगा. लेकिन, शोभायात्रा निकालने पर विचार हो रहा है. वह शूलिनी मेला प्रबंधन कमेटी के साथ बैठक करेंगे. साथ ही आठ जून से प्रदेश में मंदिर खुलेंगे, इस संबंध में सरकार की गाइडलाइन्स का भी इंतजार किया जा रहा है.



इन बातों पर मंथन
तीन दिवसीय राज्य स्तरीय मेला केवल शोभा यात्रा निकाली जाएगी. शोभायात्रा में माता की डोली उठाने के लिए कुछ लोग ही शामिल हो पाएंगे. शहरवासी इस बार दूर से ही माता के दर्शन कर पाएंगे. पूजा-पाठ की जिंतनी भी परम्पराएं और विधि विधान हैं, पहले की तरह ही निभाएं जाएंगे. उनमे किसी भी तरह का बदलाव नहीं किया जाएगा.

ऑनलाइन होंगे माता शूलिनी के दर्शन
सोलन में शूलिनी माता की शोभा यात्रा जब निकाली जाएगी उसे सोशल मीडिया पर लाईव दिखाया जाएगाय यह इतिहास में पहली बार होगा, जब भक्त डिजिटल माध्यम से दर्शन करेंगे.

नहीं लगेंगे शहर में भंडारे
सोलन शहर में इस बार भंडारों का आयोजन नहीं हो पाएगा. जिला प्रशासन इस बार किसी को भी भंडारे लगाने के लिए अनुमति प्रदान नहीं कर सकता है. उसी प्रकार से अगर माता के चरणों में अगर कोई भक्त चढ़ावा चढ़ाना चाहता है तो वह ऑनलाइन दान कर सकेगा. इस विषय पर भी जिला प्रशासन निर्णय ले सकता है.

ये भी पढ़ें: सुसाइड या मर्डर! ऊना में पेड़ से लटकी मिली 38 साल की महिला की लाश

PHOTOS: मंडी के ‘सरदार जी’ ने अपनी 11 पगड़ियां कटवाईं, सिलवाए मास्क, फिर बांटे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading