सोलन के अस्पताल में चिल्ड्रन वार्ड में एक ही बेड पर तीन बच्चों का हो रहा इलाज

ETV Haryana/HP
Updated: September 16, 2017, 4:56 PM IST
सोलन के अस्पताल में चिल्ड्रन वार्ड में एक ही बेड पर तीन बच्चों का हो रहा इलाज
सोलन के अस्पताल में बच्चों का ऐसे हो रहा इलाज
ETV Haryana/HP
Updated: September 16, 2017, 4:56 PM IST
हिमाचल प्रदेश में सोलन के क्षेत्रीय अस्पताल के शिशु वार्ड में एक ही बेड पर दो से तीन बच्चों का इलाज हो रहा है. किसी किसी बेड पर तो तीन-तीन बच्चे इलाज कराते हुए दिख जाएंगे.

समस्या यह भी है कि बच्चों का इलाज करवाने पहुंचे परिजनों को भी उनकी देखभाल के लिए अस्पताल में रुकना पड़ता है. जाहिर सी बात है कि इससे संक्रमण का खतरा पैदा हो जाता है. इन हालात में बच्चे दुरुस्त होने की बजाय नई-नई बीमारियों को घर साथ लेकर जाते हैं.

इस अस्पताल के शिशु वार्ड में घुटन महसूस कर रहे अभिभावकों ने चिकित्सा अधीक्षक को एक ज्ञापन सौंपा है, जिसमें वार्ड में और अधिक बिस्तरों को सुविधा उपलब्ध करवने की मांग की गई. चिकित्सा अधीक्षक ने परिजनों को अपने अपने रिश्तेदारों के पास ठहरने की भी सलाह दे डाली जिससे परिजनों व चिकित्सा अधीक्षक के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई है.

परिजनों का कहना है कि वह अपने बच्चों का इलाज करवाने दूर दूर से आये हैं लेकिन अस्पताल में बच्चों को एडमिट करने के लिए बिस्तरों की सुविधा उपलब्ध नहीं है. उन्होंने कहा कि एक एक बेड पर तीन तीन बच्चे दाखिल किये गए है जिससे हमेशा संक्रमण का खतरा बना रहता है.अभिभावकों कहना है कि अस्पताल का चिल्ड्रन वार्ड चिड़ियाघर बना हुआ है.

चिकित्सा अधीक्षक डॉ. महेश गुप्ता ने कहा कि आजकल दो तीन महीने में अस्पताल में ज्यादा मरीज आते है जिसके चलते परेशानी हो रही है.

(अमरप्रीत की रिपोर्ट)
First published: September 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर