लाइव टीवी

नालागढ़ की रामशहर तहसील में तिरंगे का अपमान, फहराने के दौरान जमीन पर गिरा झंडा
Solan News in Hindi

Jagat Singh Bains | News18 Himachal Pradesh
Updated: January 27, 2020, 1:58 PM IST
नालागढ़ की रामशहर तहसील में तिरंगे का अपमान, फहराने के दौरान जमीन पर गिरा झंडा
नालागढ़ की रामशहर तहसील में तिरंगे का हुआ अपमान

नालागढ़ (Nalagarh) की तहसील रामशहर में तिरंगे के अपमान (tricolor insult) होने का मामला सामने आया है, जहां तिरंगे को फहराने के लिए रस्सी खींचने के दौरान तिरंगा भी नीचे जमीन पर गिर गया.

  • Share this:
सोलन. पूरे देश में जहां 71वां गणतंत्र दिवस (Republic Day) रविवार को बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा था. वहीं सोलन (Solan )के नालागढ़ (Nalagarh) की तहसील रामशहर में तिरंगे के अपमान (tricolor insult) होने का मामला सामने आया है. तिरंगे का अपमान उस समय हुआ जबनालागढ़ के तहत तहसील रामशहर में गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. कार्यक्रम में तहसीलदार रामशहर विमला खोखरियाल ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत कर तिरंगे को फहराने के लिए रस्सी खींची और रस्सी के साथ तिरंगा भी नीचे जमीन पर गिर गया. नीचे सुरक्षा में खड़े पुलिस के जवानों ने तिरंगे को संभाला और जमीन से उठा कर सहारे के लिए लगाए गए खंभे के बीच ही लगाकर राष्ट्रीय गान करवा दिया गया.

तहसीलदार ने तिरंगे का अपमान की बात से झाड़ा पल्ला

बता दें कि रामशहर तहसील के 71वें गणतंत्र समारोह में तिरंगे का अपमान हुआ है. वहीं तिरंगे के अपमान के बाद जब तहसीलदार रामशहर मंच पर संबोधन करने आई तो, उन्होंने इतनी बड़ी तिरंगे की अपमान करने वाली घटना को एक छोटी मोटी घटना बताते हुए यह कहकर पल्ला झाड़ दिया कि इंसान गलतियों का पुतला है और वह ऐसी छोटी मोटी गलतियां करता ही रहता है. उन्होंने कहा कि इसे भी छोटी गलती समझ कर माफ कर दिया जाए और उन्होंने यहां तक कह दिया कि गलती उनकी और से नहीं, बल्कि पुलिस प्रशासन की सुरक्षा में लापरवाही बरतने के कारण हुई है.

तिरंगे को खंभे के बीच लगाकर किया राष्ट्रीय गान
तिरंगे को खंभे के बीच लगाकर किया राष्ट्रीय गान


नालागढ़ में चर्चाओं का विषय बना तिरंगे का अपमान

तिरंगे का अपमान होने के बाद औद्योगिक क्षेत्र बद्दी बरोटीवाला नालागढ़ में चर्चाओं का विषय बना हुआ है और रामशहर प्रशासन द्वारा जिस तरह देश के तिरंगे का अपमान किया गया उसके चलते राम शहर प्रशासन पर अब सवाल उठने शुरू हो गए हैं कि आखिर गणतंत्र दिवस के समारोह में सुरक्षा के चलते इतनी बड़ी लापरवाही कैसे सामने आ गई.

यह भी पढ़ें- हिमाचल में 3636 शिक्षकों के पद भरने में फंसा पेच, फिलहाल नहीं हो पाएगी भर्ती!यह भी पढ़ें- आस्था या कुछ और…! दावा-कांगड़ा की ब्रजेश्वरी धाम के माखन से ठीक हो गया कैंसर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सोलन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 1:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर