को-ऑपरेटिव ट्रांसपोर्ट सोसायटी और कैंटर यूनियन में खूनी संघर्ष, 7 गंभीर

यह विवाद ट्रांसपोर्ट सोसाइटी और कैंटर यूनियन यूनियन पर कब्जा करने के लिए दो गुटों में चल रहा है. जो कि पिछले 4 दिन से जारी है. कुछ दिन पहले एक पक्ष ने पूर्व कांग्रेस नेता हरदीप सिंह बाबा के घर पर हमला किया था.


Updated: June 14, 2018, 11:51 AM IST
को-ऑपरेटिव ट्रांसपोर्ट सोसायटी और कैंटर यूनियन में खूनी संघर्ष, 7 गंभीर
परवाणू में दो गुटों में झड़प के बाद तोड़े गए शीशे.

Updated: June 14, 2018, 11:51 AM IST
हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले की परवाणू कोऑपरेटिव ट्रांसपोर्ट सोसायटी व कैंटर यूनियन में खूनी संघर्ष हुआ, जिसमें 7 लोग घायल हो गए हैं. इस दौरान कई वाहनों के साथ तोड़-फोड़ की की गई है.

घटना के दौरान पुलिस शुरुआत में उपद्रवियों पर काबू ना पा सकी तो पुलिस जवानों को हवा में पिस्टल लहरानी पड़ी. उपद्रवी पुलिस के सामने खूनी संघर्ष को अंजाम देते रहे. साथ ही सड़क पर गाड़ियों को दौड़ते रहे.

जानकारी के अनुसार, यह विवाद ट्रांसपोर्ट सोसाइटी और कैंटर यूनियन यूनियन पर कब्जा करने के लिए दो गुटों में चल रहा है. जो कि पिछले 4 दिन से जारी है. कुछ दिन पहले एक पक्ष ने पूर्व कांग्रेस नेता हरदीप सिंह बाबा के घर पर हमला किया था.

उसके बाद हरदीप सिंह बाबा ने परवाणू में कैंटर यूनियन की हड़ताल आरंभ कर दी थी. बाद में जिला प्रशासन की मध्यस्ता के बाद इस हड़ताल को खत्म करवाया गय. बुधवार देर शाम जब कुछ कैंटर माल लाद रहे थे तो ट्रांसपोर्ट सोसाइटी को यह बात बर्दाश्त नहीं हुई और माल भर रही गाड़ियों पर पथराव कर दिया. साथ ही तोड़फोड़ भी की.

ये हुए घायल
खूनी संघर्ष में द परवाणु को-ऑपरेटिव ट्रांसपोर्ट सोसायटी के सदस्य प्रमोद शर्मा, राजू, राहुल, शेर सिंह व फूलचंद घायल हो गए, जबकि कैंटर यूनियन के कालू व पप्पू भी घायल हो गए हैं.

ये बोले दोनों पक्ष
कैंटर यूनियन के अध्यक्ष हरदीप सिंह बाबा ने यह आरोप लगाया है कि भाजपा सत्ता का दुरुपयोग कर रही है. सत्ता के दबाव में ही उनकी यूनियन पर कब्जा किया गया है. जो बेहद गलत है.

परवाणू कोऑपरेटिव ट्रांसपोर्ट सोसायटी के प्रधान अमर नाथ शर्मा ने कहा है कि कैंटर यूनियन हिमाचल की प्रवेश द्वार परवाणू में दहशत फैलाना चाहती है. लेकिन वह ऐसा कतई नहीं होने देंगे. पेंटर यूनियन को अब कोऑपरेटिव ट्रांसपोर्ट सोसाइटी ही चलाएगी. वह किसी भी सूरत में गुंडा तत्वों को हावी नहीं होने देंगे
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Himachal Pradesh News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर