अपना शहर चुनें

States

हिमाचल में कांग्रेस की किरकिरी, विद्या स्टोक्स का नामांकन खारिज

Vidhya stokes. (File Photo)
Vidhya stokes. (File Photo)

राठौर के नाम के ऐलान के बाद विद्या स्टोक्स ने एक बार फिर से चुनावी दंगल में उतरने का फैसला किया था. सोमवार को अंतिम दिन अपना नामांकन दाखिल किया. उधर, दीपक राठौर ने भी अपनी पार्टी का आधिकारिक पत्र देकर पर्चा भरा. अब विद्या स्टोक्स का नामांकन खारिज होने के बाद दीपक राठौर ही कांग्रेस के प्रत्याशी होंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2017, 7:16 PM IST
  • Share this:
हिमाचल प्रदेश विधान चुनाव को लेकर कांग्रेस को शिमला के ठियोग विधानसभा की सीट पर खासी फजीहत झेलनी पड़ी है. लंबी खींचतान के बाद यहां से कांग्रेस की कद्दावर नेता विद्या स्टोक्स का नामांकन रद्द हो गया है. अब यहां से दीपक राठौर कांग्रेस आधिकारिक प्रत्याशी होंगे. बता दें कि नामांकन पत्र अधूरा होने के चलते विद्या स्टोक्स का पर्चा खारिज कर दिया है.

बता दें कि विद्या स्टोक्स आठ बार की विधायक और मौजूदा सरकार में सिंचाई मंत्री हैं. ऐसे में उनका नामांकन खारिज होने अचंबे की बात है.

इससे पहले, मंगलवार दोपहर को कांग्रेस के ‘दो आवेदन’ को लेकर बीजेपी और माकपा ने आपत्ति दर्ज करवाई थी. भाजपा और माकपा ने विद्या स्टोक्स और दीपक राठौर के आवेदन पर आपत्ति जताते हुए निर्वाचन अधिकारी से शिकायत की.



दोनों पार्टियों का कहना है कि एक ही पार्टी से दो उम्मीदवारों ने नामांकन किया है, जो कि अवैध है. मंगलवार देर शाम आयोग ने विद्या स्टोक्स का पर्चा इसलिए खारिज कर दिया, क्योंकि उनका फॉर्म-बी अधूरा था. इसमें राजनीतिक दल की ओर से आधिकारिक तौर पर चुनाव लड़ने की अनुशंसा की जाती है.
ये भी रहा नामांकन रद्द होने का कारण
नियम के अनुसार, पार्टी की तरफ से अधिकृत और पहले नामंकन भरने वाले को सिम्बल पर चुनाव लड़ने का अधिकार प्राप्त है. स्टोक्स से पहले दीपक ने नामांक भरा था. इसी कारण भी स्टोक्स का नामंकन रदद् हुआ है

ये है पूरा मामला
इस सीट पर सबसे पहले सीएम वीरभद्र सिंह ने चुनाव लड़ने का ऐलान किया. उनके लिए बाकायदा, कांग्रेस की कद्दावर नेता विद्या स्टोक्स यहां से चुनाव लड़ने से हट गई. बाद में सीएम ने अर्की से चुनाव लड़ने का फैसला किया तो विद्या ने फिर ठियोग से लड़ने का फैसला किया.

इस बार उनकी तबीयत बिगड़ गई और वे चंडीगढ़ इलाज के लिए रवाना हो गई. इसी मद्देनजर यहां से कांग्रेस ने फिर प्रत्याशी बदल दिया. विजय बिहारी लाल खाची का नाम चर्चा में आया.

खुद सीएम वीरभद्र सिंह ने फेसबुक और ट्विटर पर खाची को टिकट मिलने की बधाई दी. लेकिन लिस्ट में दीपक राठौर का नाम निकला. इससे कांग्रेस को काफी फजीहत झेलनी पड़ी.

राठौर के नाम के ऐलान के बाद विद्या स्टोक्स ने एक बार फिर से चुनावी दंगल में उतरने का फैसला किया था. सोमवार को अंतिम दिन अपना नामांकन दाखिल किया. उधर, दीपक राठौर ने भी अपनी पार्टी का आधिकारिक पत्र देकर पर्चा भरा. अब विद्या स्टोक्स का नामांकन खारिज होने के बाद दीपक राठौर ही कांग्रेस के प्रत्याशी होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज