ऊना पहुंची अर्द्धसैनिक बल की एक टुकड़ी, संवेदनशील मतदान केंद्रों में गश्त शुरू

ऊना में सुरक्षा का जिम्मा पुलिस के साथ-साथ अर्द्धसैनिक बलों को सौंप दिया गया है. ऊना जिले को आईटीबीपी की एक सेक्शन मिली है, जिसने ऊना पहुंच कर अति संवेदनशील और संवेदनशील मतदान केंद्रों के साथ-साथ जिला की सीमाओं पर चौकसी बरतनी शुरू कर दी है.

Amit Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: March 16, 2019, 4:54 PM IST
ऊना पहुंची अर्द्धसैनिक बल की एक टुकड़ी, संवेदनशील मतदान केंद्रों में गश्त शुरू
अर्द्धसैनिक बलों की एक टुकड़ी ऊना पहुंच गई है
Amit Sharma | News18 Himachal Pradesh
Updated: March 16, 2019, 4:54 PM IST
लोकसभा चुनाव में अभी दो माह का वक्त बचा हुआ है, लेकिन प्रशासन सुरक्षा को लेकर पूरी तरह से मुस्तैदी दिखा रहा है. ऊना में सुरक्षा का जिम्मा पुलिस के साथ-साथ अर्द्धसैनिक बलों को सौंप दिया गया है. ऊना जिले को आईटीबीपी की एक सेक्शन मिली है, जिसने ऊना पहुंच कर अति संवेदनशील और संवेदनशील मतदान केंद्रों के साथ-साथ जिला की सीमाओं पर चौकसी बरतनी शुरू कर दी है. लोकसभा चुनावों के मद्देनजर ऊना जिला में अब रोजाना दिन रात की पेट्रोलिंग बढ़ जाएगी. अब जिले में पैरामिल्ट्री फोर्स असमाजिक तत्वों पर भी नजर रखेगी. इसके लिए ऊना में पैरामिल्ट्री फ़ोर्स का एक सेक्शन पहुंच गया है.

पैरामिल्ट्री फोर्स के यह सदस्य जिला भर में पेट्रोलिंग करेंगे ताकि आपराधिक गतिविधियों के साथ-साथ शरारती तत्वों की गतिविधियों पर नकेल कसेंगे. पैरामिलिट्री फोर्स जिला के अति संवेदनशील बूथों पर भी कड़ी नजर रखेगी. कोई भी घटना होने पर इस टीम के सदस्य तुरन्त मौका पर पहुंच कर कार्यवाही भी करेंगे.

ऊना में पैरामिल्ट्री फ़ोर्स के पहुंचने पर डीएसपी हेडक्वार्टर अशोक वर्मा ने पैरामिल्ट्री फोर्स सदस्यों को उचित निर्देश दे दिए हैं. अशोक वर्मा ने कहा कि पूरी टीम चुनाव में आपराधिक गतिविधियों को रोकने के लिए अपनी अहम भूमिका निभाएगी.



यह भी पढ़ें: कुल्लू घाटी में अच्छी बारिश के चलते लहसुन और मटर की बंपर पैदावार की उम्मीद

 बेटे ने एक्सीडेंट में मौत से पहले मां से फोन पर कहा-'खाना खाने ढाबा जा रहा हूं'

कुल्लू में तेंदुओं का आतंक, अब तक दर्जनों कुत्तों और खच्चरों का किया शिकार
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...