Home /News /himachal-pradesh /

ऊना में धूमधाम से मनाया क्रिसमस का त्यौहार, प्रभु यशुमसीह के जीवन से जुड़ी लगाई गई प्रदर्शनी

ऊना में धूमधाम से मनाया क्रिसमस का त्यौहार, प्रभु यशुमसीह के जीवन से जुड़ी लगाई गई प्रदर्शनी

ऊना में क्रिसमस के मौके पर संजोआन आश्रम को दुल्हन की तरह सजाया गया

ऊना में क्रिसमस के मौके पर संजोआन आश्रम को दुल्हन की तरह सजाया गया

ऊना (Una) में क्रिसमस (Christmas) का त्यौहार धूमधाम से मनाया जा रहा है. ऊना के रक्कड़ कालोनी में स्थित संजोआन आश्रम (Sanjoan Ashram) चर्च को रंग बिरंगी लाइटों से दुल्हन की तरह सजाया गया है.

ऊना. हिमाचल प्रदेश के ऊना (Una) में क्रिसमस (Christmas) का त्यौहार धूमधाम से मनाया जा रहा है. ऊना के रक्कड़ कालोनी में स्थित संजोआन आश्रम चर्च को रंग बिरंगी लाइटों से दुल्हन की तरह सजाया गया है. वहीं चर्च परिसर में प्रभु यशुमसीह (Jesus Christ) से जीवन से जुड़ी प्रदर्शनी भी लगाई गई, जिसे देखने लोगों की खूब भीड़ उमड़ी. वहीं गिरिजाघर (Church) में विशेष पूजा प्रार्थना भी हुई.

चर्च को रंग बिरंगी लाइटों और फूलों से सजाया गया

आज दुनियाभर में क्रिसमस का त्यौहार धूमधाम से मनाया जा रहा है. मंगलवार की रात घड़ी की सूई ने जैसे ही 12 बजाए, सभी गिरजाघरों में विशेष पूजा प्रार्थना शुरू हो गई. इस मौके पर ऊना के संजोआन आश्रम चर्च को क्रिसमस के मौके पर रंग बिरंगी लाइटों और फूलों से सजाया गया है. चर्च में बड़ी तादात में लोगों ने प्रभु यीशु को याद किया.

चर्च में बड़ी तादात में लोगों ने प्रभु यीशु को याद किया
चर्च में बड़ी तादात में लोगों ने प्रभु यीशु को याद किया


गिरजाघर परिसर में  में लगाई गयी झांकियां 

संजोआन आश्रम के गिरजाघर परिसर में प्रभु यीशु के जन्म को दर्शाती हुई झांकियां भी लगाई गई हैं, जिनमें मरियम, प्रभु यीशु, गडरिये और स्वर्ग से आए दूत दिखाए गए.

गिरजाघर परिसर में लगी झांकियों को देखते बच्चे
गिरजाघर परिसर में लगी झांकियों को देखते बच्चे


विभिन्न धर्मों के लोगों ने चर्च में पहुंचकर मनाया क्रिसमस

वहीं चर्च में रातभर पूजा प्रार्थना के साथ ही प्रभु यीशु की जीवन गाथाओं का वर्णन भी किया गया. इस दौरान विभिन्न धर्मों के लोगों ने चर्च में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई और एक दूसरे को क्रिसमस की बधाई दी. संजोआन आश्रम के फादर जॉर्ज और फादर थॉमस ने इस अवसर पर सभी को रोशनी के इस पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं दी.

चर्च में पूजा प्रार्थना के साथ प्रभु यीशु की जीवन गाथाओं का किया गया वर्णन
चर्च में पूजा प्रार्थना के साथ प्रभु यीशु की जीवन गाथाओं का किया गया वर्णन


दिसंबर माह को क्राइस्ट-मास के नाम से जाना जाता है

उन्होंने बताया कि 25 दिसंबर को ईसा मसीह का जन्म विश्व में प्यार का संदेश देने के लिए हुआ था. इसलिए इस दिन को क्रिसमस डे कहा जाता है और पूरे दिसंबर माह को क्राइस्ट-मास के नाम से जाना जाता है. क्राइस्ट-मास के खत्म होने के बाद ही ईसाई नववर्ष की शुरूआत होती है.

यह भी पढ़ें- No White Christmas! 20 साल में शिमला में क्रिसमस पर एक ही बार हुई है बर्फबारी

यह भी पढ़ें- CM की सभा में पिता अनिल शर्मा की बेइज्जती पर बोले आश्रय-क्या वे BJP MLA नहीं हैं?

Tags: Christmas, Himachal pradesh news, Merry Christmas, Una

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर