Home /News /himachal-pradesh /

हिमाचल में बूस्टर डोज़: फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ-साथ बुजुर्गों को लग रही तीसरी डोज

हिमाचल में बूस्टर डोज़: फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ-साथ बुजुर्गों को लग रही तीसरी डोज

चिकित्सा अधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग के फ्रंटलाइन वर्कर ने यह तीसरी खुराक हासिल की.

चिकित्सा अधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग के फ्रंटलाइन वर्कर ने यह तीसरी खुराक हासिल की.

स्वास्थ्य विभाग फ्रंटलाइन वक्त के साथ-साथ नागरिकों को सुरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने जिला वासियों से आवाहन किया कि इन तीनों वर्गों में आने वाले वह लोग अपना बूस्टर डोज लेना सुनिश्चित करें, जिनका वैक्सीनेशन के दोनों डोज लगे 9 महीने का अरसा बीत चुका है. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों का वास्ता सीधे तौर पर जनता से रहता है.

अधिक पढ़ें ...

ऊना. हिमाचल प्रदेश में कोविड-19 की तीसरी लहर के साए में स्वास्थ्य विभाग की तरफ से फ्रंटलाइन वर्कर्स, गंभीर रूप से बीमार लोगों और 60 वर्ष आयु वर्ग से अधिक के नागरिकों को वैक्सीनेशन की तीसरी डोज बूस्टर के रूप में लगाना शुरू कर दिया है. मंगलवार को जिला मुख्यालय के रीजनल अस्पताल में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रमन शर्मा समेत अन्य चिकित्सा अधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग के फ्रंटलाइन वर्कर ने यह तीसरी खुराक हासिल की. इन तीनों वर्गों में से जिन नागरिकों को दोनों डोज को लगे 9 महीने का समय बीत चुका है वह अपना बूस्टर डोज़ ले सकते हैं.

जिला मुख्यालय के रीजनल अस्पताल में मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड-19 वैक्सीनेशन के तहत बूस्टर डोज अभियान छेड़ा गया. देश में जहां संक्रमण की तीसरी लहर से भयावह तस्वीरें सामने आ रही है वहीं स्वास्थ्य विभाग ने भी अधिक से अधिक नागरिकों को संक्रमण के प्रति सुरक्षा कवच प्रदान करने के लिए अभियान और तेज कर दिया है.

जिला के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रमन शर्मा ने बताया कि फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ-साथ 60 वर्ष आयु वर्ग से अधिक के नागरिकों और गंभीर बीमारियों से पीड़ित उन लोगों को बूस्टर डोज देने का प्रावधान किया गया है, जिनको दोनों टीके लगे 9 महीने का समय बीत चुका है. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग फ्रंटलाइन वक्त के साथ-साथ नागरिकों को सुरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने जिला वासियों से आवाहन किया कि इन तीनों वर्गों में आने वाले वह लोग अपना बूस्टर डोज लेना सुनिश्चित करें, जिनका वैक्सीनेशन के दोनों डोज लगे 9 महीने का अरसा बीत चुका है. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों का वास्ता सीधे तौर पर जनता से रहता है. ऐसे में इन्हें तीसरी खुराक देकर सुरक्षित करना प्राथमिक लक्ष्य है. देशभर के विभिन्न राज्यों में डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ संक्रमण की तीसरी लहर में सबसे अधिक चपेट में आ रहे हैं.

हिमाचल प्रदेश में इस तरह की परिस्थिति ना बने, इसके लिए फ्रंटलाइन वर्कर्स में स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को बूस्टर डोज देने का अभियान शुरू कर दिया गया है. वहीं, बूस्टर डोज लेने वाले फ्रंट लाइन वर्कर्स ने भी लोगों से अपनी बारी आने पर कोविड वैक्सीन की तीसरी डोज लगवाने का आहवान किया है. बूस्टर डोज लेने वाले फ्रंट लाइन वर्कर्स की मानें तो दिन प्रतिदिन कोविड के मामले बढ़ते जा रहे है. ऐसे में वैक्सीन लगवाकर इस बीमारी को हराया जा सकता है.

Tags: Anti-Corona vaccine, Himachal news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर